बहन की खूबसूरत सहेलिया (Bahan Khobsoorat Sahaliya)

1
14406

बहन की खूबसूरत सहेलिया (Bahan Khobsoorat Sahaliya) Hindi Story

उस दिन दोपहर के दो-ढाई बज रहे थे. गर्मी के दिन थे और लाइन कटी हुई थी. मैं अंदर बरामदे पे कॉट पर सोई हुई थी. आँगन की दीवार काफी ऊंची थी इसलिए मैं इत्मीनान से अपना स्कर्ट और टॉप ऊपर करके हवा कहा रही थी. गर्मी में मैं ब्रा और पैंटी नहीं पहनती, सिर्फ़ पीरियड के दीनों में पैंटी पहनती हूँ, पड़ के सपोर्ट के लिए. आंटी मार्केट गयी थी और भैया कॉलेज. नौकरानी 3 बजे आती है, वैसे भी मैं नौकरानी किरण से परदा नहीं करती, एक तो वो भी लड़की और मैं भी, वो मुझसे दो साल बड़ी होगी, यानि 19 की अनमॅरीड और मैं भी 18 की फर्स्ट एअर की स्टूडेंट.मैं आधी नींद में थी की मुझे लगा कोई कमरे में खुसुर-पुसुर कर रहा है, मैं झट से उठी, अपने कपड़े ठीक की और कमरे में देखी की नयन भैया नौकरानी किरण को पीछे से पकड़कर उसकी मस्त चूची दबा रहे है, मैं भैया का ये रूप देखकर हैरान थी. नयन भैया आम-टूर पर लड़कियों से दूर रहते है और बहुत सख्त इनसेन हैं. 20 साल का नौजवान, 5 फीट 8 इंच हाइट, चौड़ी छाती, जिम में कसरत करके मजबूत मसल्स, गोरा रंग, गहरी आंखें, यानि एकदम हीरो माफिक मेरे भैया. और कहा वो नौकरानी किरण, 19 साल की साँवली, दुबली-सी, लेकिन बॉडी के लिहाज से काफी बड़ी चुचियां और सबसे सेक्सी पार्ट था उसका हिप. जब वो चलती थी तो लड़की होकर भी मैं उसकी हिप का मटकना देखती रही जाती. मैं देखी की नयन भैया उसे अपनी ओर घुमा कर किस करने लगे, मुझसे रहा नहीं गया, वहां से हटकर आँगन में आ गयी और एक प्लेट गिरा कर उनका ध्यान भंग की, दोनों अलग हो गये और किरण तेजी से किचन में चली गयी, भैयाऔर अपने कमरे में. बहन की खूबसूरत सहेलिया (Bahan Khobsoorat Sahaliya) HIndi Sex Storyयह सब देखकर मेरा मूंड़ भी गरमा गया था. मैं भैया के रूम में गयी, वो कपड़े बदल रहे थे, मैं बोली – क्या भैया, तुम इतने नीचे उतार जाओगे, सोची नहीं थी, अरे मुझसे बोले होते, एक से एक खूबसूरत सहेलिया है मेरी, तुम जैसे स्मार्ट जवान लड़के पर मेरी सहेलिया तो मरने को तैयार हो जाएगी, इस सांवली नौकरानी को किस करने में तुझे मजा आता है? मुझसे कहा होता – इसे छोटे-मोटे काम के लिए तो मैं भी तेरे पास हूँ. तेरी अपनी बहन, खूबसूरत, जवान — ठीक है की हम लोग वो काम नहीं कर सकते, लेकिन तुम अपनी बहन सीमा को प्यार तो कर ही सकते हो, ज्यादा मजे करना हो तो अपनी सहेली रीता से बात करूँगी, खुश कर देगी …. … नयन भैया ने सकपका कर मुझे देखा और टावल के अंदर से आंडरवेयर निकल कर बेड पर फेंक दिया. मैं बनावटी गुस्से से बोली – भैया तेरी आदत कब ठीक होगी, कपड़े ठीक से रखा करो – फिर मैंने उसका आंडरवेयर उठाया और उसका लंड वाला पोरशन भीगा देखकर बोली – भैया, ये क्या …. … भैया शर्मा गये और बाथरूम में घुस गये. बहन की खूबसूरत सहेलिया (Bahan Khobsoorat Sahaliya) HIndi Sex Storyदूसरे दिन मैं जैसे ही कॉलेज से लौटी, भैया पीछे-2 मेरे रूम में आए और बेसब्री से बोले – सीमा, रीता से बात हुई क्या? मैं कुच्छ नहीं बोली. भैया ने फिर पूछा – बोलो ना रीता मिली थी? क्या बात हुई? नया भैया ने मेरी दोनों बाह पकड़ कर झकझोर दिया – मैं मुंह लटका कर बोली – सॉरी भैया, रीता अच्छी लड़की नहीं है, मैं पूजा से बात करके बताऊंगी —– मैं सलवार-कुर्ते के ऊपर से स्कर्ट डालने लगी, कमर पे लाकर कुर्ते उठाकर सलवार की डोरी खोलती हुई बोली – अब मैं रीता से कभी बात नहीं करूँगी —- क्यों, क्या बोली रीता बताओ तो सही, भैया ने फिर मुझे झकझोरा — मेरे हाथ से स्कर्ट चुत गया – शुक्र था की उस दिन मैं पैंटी पहनी थी और कुर्ता भी नीचे लटक गया, मैं ज्लडी से स्कर्ट उठा कर हुक लगाने लगी – भैया दूसरी तरफ घूम गये —- मैं अफ़सोस करते हुए बोली — जानते हो भैया, रीता बहुत गंदी लड़की है, मैंने कहा की मेरे भैया से दोस्ती करोगी — तो उसने कहा — दोस्ती करने कह रही हो या प्यार करने, सब समझती हूँ, आजकल भाई लोग भी बहन के थ्रू ही लकड़ी पटते है, और फिर तू खुद भी तो इतनी खूबसूरत हो, खुद ही अपने भैया को संभलो ना, मैं तो अपने राकेश भैया को खुद ही सारा प्यार देती हूँ, वो तो कही किसी लड़की को देखते भी नहीं, उसे मैं ही खुश रखती हूँ – मेरी प्यारी सीमा, जा तू आज से ही अपने भैया को खुश करना सीख ले —— भैया मेरी ओर पीठ करके सब सुन रहे थे, मैं कुर्ता उतार कर छाती पर रख ली और टॉप लेने बड़ी, भैया घूम कर मेरी खुली पीठ देख रहे थे. बहन की खूबसूरत सहेलिया (Bahan Khobsoorat Sahaliya) HIndi Sex Story

मज़ेदार सेक्स कहानियाँ

एक दिन रात के ज्यादा नहीं 11 बजे होंगे, मैं हमेशा की तरह स्कर्ट टॉप पहनकर आंटी के साथ सोई थी, आंटी नींद में थी पर मुझे ठीक से नींद आई नहीं थी, पंखे की हवा से मेरा स्कर्ट ऊपर की ओर सरक गया था, रूम का लाइट ऑफ था, तभी मैं चौक गयी, भैया मेरे जाँघ पर हाथ फेयर कर मुझे धीरे से जगा कर बोले – सीमा, इधर आओ, एक चीज़ दिखता हूँ, भैया खुद भी केवल बरमूडा में थे. टॉप के अंदर जैसे बिना ब्रा के मेरी चुचियां च्चालकती है वैसे ही भैया का लंड भी बरमूडा के अंदर हिल रहा था. वे मुझे पकड़कर अपने रूम में ले गये और कंप्यूटर दिखाने लगे. कंप्यूटर पे इंटरनेट चालू था और एक लड़की एक लड़के का लंड चूस रही थी. ये देखकर मैं बोली – च्चि भैया, यही सब दिखाने के लिए मुझे जगाकर ले आए —- अरे नहीं मेरी बहना, ज़रा इनके चेहरे तो देखो, सब समझ जाओगी —- एक सेक्सी मुस्कान उसके होठों पर खिली हुई थी — फिर मैं गौर से देखी और हैरान हो गयी —- अरे! ये तो रीता और उसके राकेश भैया है — हे भगवान, भाई-बहन में ये सब, लेकिन ये यहां तेरे कंप्यूटर में कैसे आया? — ओह ! यानि इंटरनेट चालू है? हे भगवान, इन लोगों का ये रिकार्डिंग किसने किया होगा, और फिर इसे इंटरनेट पे किसने रखा होगा, कम से कम रीता या उसके राकेश भैया ने तो नहीं ही रखा होगा, हे राम, कैसे कैसे ये लोग कर रहे है — मैं बड़-बड़ा रही थी लेकिन अंदर से चुदाई का सीन देख कर गरम हुई जा रही थी, गर्मी के दिन, गरम गरम चुदाई वो भी अपनी सहेली रीता की चुदाई, वो भी अपने सगे भाई से — मैं अपनी चुत को दोनों हाथों से ढक-कर एक आर्मलेस चेयर पे बैठ गयी.

इधर भैया ने कमरे का दूर लगा दिया और मेरे बगल में सात कर खड़े हो गये, उनका लंड मेरे कंधे से टकरा रहा था, मैं स्क्रीन पर देख रही थी की उसके राकेश भैया ने अपना लंड हिलाया और उसे रीता के गान्ड में घुसने लगे – मैं चीख पड़ी – हे राम, कितना बड़ा है राकेश भैया का और कैसे जाएगा छोटे से छेद में — तभी नयन भैया बोले – अरे ये तो कुच्छ भी नहीं, इससे ज्यादा बड़ा तो मेरा लंड है, देखोगी? — मैं कुच्छ बोल नहीं पाई, चेहरा घुमाया तो भैया का खड़ा लंड मेरे होठों से टकराया – फिर क्या था, मैंने उनके बरमूडा के ऊपर से ही उनका मोटा सा लंड पकड़ लिया और उसे अपने होठों से चूमने लगी — भैया ने मुझे बह पकड़ कर उठाया और गले से लगा लिया – मैं प्यार में डूबती हुई बोली – भैया, प्लीज़ तुम मुझे प्यार क्यों नहीं करते? मैं तेरी छोटी बहन हूँ, सभी अपनी बहन को कितना प्यार करते है, सिर्फ़ तुम नहीं करते – प्लीज़ मुझे प्यार करो ना — इस तरह मैं नयन भैया के और करीब होती गयी, मेरी दोनों सख्त चुचियां उनके सीने से दब गयी, मैंने भैया के गालों पर दोनों हाथ रखकर अपने चेहरे से रगड़ने लगी, उसका मस्त खड़ा लंड मेरे पेट पर गड़ रहा था, भैया के होंठ मेरे होठों को सहलाने लगे —- उधर कंप्यूटर पर रीता के चुत में उसके राकेश भैया का लंड सटा-सात अंदर-बाहर हो रहा था.

बहन की खूबसूरत सहेलिया (Bahan Khobsoorat Sahaliya) HIndi Sex Story

Content Protection by DMCA.com

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here