Best sex stories – पूजा की चुत की सील तोड़ी

0
6623

Best sex stories – पूजा की चुत की सील तोड़ी

हेलो दोस्तों… मेरा नाम सूरज है और मैंने सेक्सी स्टोरीस पढ़ी तो बहुत है.. मैं स्टोरी लिख पहली बार रहा हूँ. इसलिए मुझसे इसमें कोई गलती हो जाए तो मुझे माफ करना. दोस्तों यह मेरी पहली सच्ची स्टोरी है. मैं मुंबई के कल्याण का रहने वाला हूँ और मेरी उमर 25 साल है… मेरा लंड बहुत मोटा और लंबा है. तो दोस्तों मैं अब सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ.

यह कहानी उसे समय की है जब मैं 10त क्लास मैं पढ़ता था और उसे समय मैंने एक लड़की से कहा था की मैं उसे-से प्यार करता हूँ. उसे लड़की का नाम पूजा था वो बहुत सेक्सी और मस्त फिगर वाली लड़की थी और उसे टाइम उसका फिगर 36-28-36 के बराबर हे था.. लेकिन मुझे उसके बूब्स बारे हे अच्छे लगते थे. तो हम अक्सर पार्क मैं हे मिलते थे और वो मेरे हे साथ मेरे कॉलेज मैं थी… लेकिन वहां पर ज्यादा बात नहीं हो पति थी और इस तरह से कुछ महीने बीत गये थे.पर मैं जब भी उसकी देखता या हम साथ मैं होते तो मैं बस उसके साथ अपनी चुदाई के सपने देखता रहता…

मेरे अंकल ऑफिस जाते है और आंटी घर पर हे रहती थी. फिर एक दिन मेरे गाँव से कॉल आया की वहां पर कोई जरूरी काम है और एक शादी भी है… तो आंटी को जाना पड़ा और अंकल और मैं नहीं जा सके. और मेरी आंटी अकेली 1 महीने की लिए गाँव चली गयी. शाम तक मैं अपने घर पर अकेले रहता था क्योंकि अंकल शाम को हे ऑफिस से लौट-ते थे. फिर जब अगले दिन मैंने यह बात पूजा को बताई तो वो सुनकर स्माइल देने लगी और बोली की तो क्या करना है? फिर मैंने कहा कल कॉलेज मत जाना कल मेरे घर पर हे मिलते है. तो वो मना करने लगी और बोली की नहीं किसी को पता चल गया तो क्या होगा?

तो मैंने कहा तू डर मत किसी को कुछ भी पता नहीं चलेगा बस तू आ जाना और घर पर कह देना की कॉलेज जा रही है… मेरे अंकल के जाने के बाद तू आ जाना. वो अपने घर चली गयी और मैं भी बहुत खुश था… क्योंकि मैं बहुत दीनों से उसे चोदने की सोच रहा था और हम दोनों एक हे उमर के थे वो भी 15 साल की स्थि और मैं भी 15 साल का था.. लेकिन उसका फिगर देखने से लगता था की वो 18-19 साल की होगी. उसकी बारे- बारे बूब्स, थोड़ी मोटी गांड, गोरे रंग मैं वो बहुत अच्छी दिखती थी.

फिर उसे रात को मैं यही सोच रहा था की कल ना जाने क्या होगा? मैं उसके साथ कैसे कैसे और क्या क्या करूँगा? कही उसने मना कर दिया तो? मैंने अब तक उसे सिर्फ़ किस हे किया था और एक दो बार उसके बूब्स को दबाया था बस… लेकिन मैं भी क्या करता मौका हे नहीं मिल पा रहा था. अगले दिन मैं जल्दी हे उठ गया था और अंकल अपने टाइम पर ऑफिस चले गये. मैं उनके जाने के बाद हे कॉलेज जाता हूँ. मेरा कॉलेज 7:30 बजे का था और अंकल 7 बजे ऑफिस जाते है.

अंकल के जाने के बाद मैं पूजा का इंतेज़्ज़र करने लगा. मेरा दिल अब बहुत ज़ोर से धड़क रहा था और मैं सोच रहा ताकि पता नहीं ना जाने क्या होगा? फिर मैं कॉलोनी के बाहर आ गया और पूजा का इंतेज़्ज़र करने लगा. वो हमेशा 7:10 तक आ जाती थी और हम साथ मैं कॉलेज जाते थे. हमारे कॉलेज का रास्ता 10 मिनट का था. तो उसे दिन वो 7:15 पर आ गयी तब जाकर मेरी जान मैं जान आई और मैंने उसे इशारे से मेरे पीछे आने को कहा. मेरा घर ग्राउंड फ़्लोर पर था और बाकी लोग वहां नहीं रहते थे. तो मैं जल्दी से अपनी बिल्डिंग के पास गया और पूजा को अंदर आने को कहा और अंदर आने के बाद मैंने दरवाजा बंद कर दिया और मेरा दिल ज़ोर से धड़क रहा था. हम लोग बेड पर एक साथ थोड़ा पास बैठ गये.

फिर 10 मिनट बैठने के बाद वो बोली की क्या तुम्हें डर नहीं लगता की तुम बिलकुल अकेले रएआहटे हो? तो मैंने ना मैं सर हिला दिया.. फिर मैंने उसकी तरफ ध्यान से देखा तो वो ज्यादा हे सेक्सी लग रही थी और उसे देख कर मेरा मन हुआ की इसे अभी चोद दम.. लेकिन मैं सोच रहा था की जल्दबाज़ी मैं कही बात ना बिगड़ जाए. तो मैंने उसका एक हाथ वआकाड़ कर उसे कहा की तुमसे बहुत प्यार करता हूँ… तो वो शर्मा गयी और वो कुछ नहीं बोली. पर मैंने उसे-से पूंछ लिया की क्या तुम मुझसे नहीं प्यार करती हो? तो वो बोली की नहीं मैं भी तुमसे बहुत प्यार करती हूँ.. उसने एक दम धीरे से बोला. तो मैं बोला की प्लीज़ एक बार फिर से बोलो ना और मैं उसके एकदम पास आ गया और उसने अपनी गर्दन नीचे कर ली और बोली की मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ और मैंने झट से उसे उसके गाल पर किस किया तो वो कुछ नहीं बोली बस शर्मा गयी और मैं उसके और भी करीब आ गया था.

फिर थोड़ी देर बाद मैं बेड पर बैठे बैठे हे उसको अपनी बाँहों मैं लेने लगा तो वो भी मेरा साथ देने लगी थी. मैं एकदम सच कह रहा हूँ दोस्तों… पहली बार मुझे इतना अच्छा लग रहा था की मैं तो बस जन्नत मैं आ गया हूँ और अब हमारे बीच बस कोई ना आए. उसके बूब्स एक दम मुलायम मुलायम लग रहे थे और उसके बदन की खुशबू हे कुछ अलग लग रही थी. फिर मैंने उसे बेड पर लेता दिया तो वो बोली की नहीं नहीं यह सब गलत है और हमें शादी से पहले यह सब नहीं करना चाहिए. तो दोस्तों मैंने सोचा की आज चुत मिलने से तो रही.. फिर मुझे किसी फिल्म का सीन याद आया और अपने को थोड़ा दुखी और भोली से आवाज़ मैं बोला की क्या तुम मुझसे प्यार नहीं करती और मुझ पर विश्वास नहीं करती हो और यह बोलकर मैं खड़ा हो गया और यह सुनते हे उसका चेहरा एक दम से रोने जैसा हो गया था. Best sex stories

मज़ेदार सेक्स कहानियाँ

फिर एक दो सेकेंड रो वो सोच मैं पड़ गयी पर एक मिनट बाद उसने मेरा हाथ पकड़ा कर अपनी तरफ किया और बोली की मैं भी तुम से बहुत प्यार करती हूँ और उसने मुझे पागलों की तरह किस करने शुरू कर दिया और मैं भी उसका साथ देने लगा. फिर मैंने उसे किस करते करते बेड पर लेता दिया और उसे किस करने लगा, उसके गालों पर होठों पर और फिर धीरे धीरे मैइनेस एक हाथ उसके बूब्स पर रख दिया और दबाने लगा तो उसने अपनी आंखें बंद कर ली और धीरे धीरे मैंने एक हाथ उसके पीठ पर रख दिया और ऊपर नीचे करने लगा और हम लोग 20 मिनट तक यह सब करते रहे . फिर मैंने उसे-से कहा की अपने सकूल के कपड़े निकल दो.. नहीं तो गंदे हो जाएँगे. तो वो बोली की मुझे तुमसे शर्म आ रही है कोई आ गया तो क्या होगा..

मैंने बोला की कोई नहीं आएगा और तुम अपने ऊपर चादर ले लो. तो वो मान गयी और उसने अपनी सलवार कमीज़ दोनों को निकल दिया और चादर लेकर बैठ गयी और मैंने भी अपनी टी-शर्ट और पेंट निकल दे और मैं उसके साथ लेट गया और अब हम दोनों लगभग नंगे थे और मैं उसे किस कर रहा था और उसके बूब्स दबा रहा था.. उसे टाइम मेरा लंड एक दम खड़ा हो गया और वो मेरे आंडरवेयर से बाहर आने की कोशिश पूरी कर रहा था.

फिर मैंने उसकी ब्रा जो काली कलर की थी उसे निकल दे और उसने गुलाबी कलर की पेंटी भी निकल दे. तो हम दोनों से एक दम से पूरे नंगे थे और मेरा लंड उसकी चुत को छू रहा था. उसकी चुत पर थोड़े थोड़े से बाल थे उसने फिर अपनी आंखें बंद कर ली थी. मैंने उसको किस किया और अपना लंड उसकी चुत पर लगाया तो उसने आहह अफ किया. फिर मैं उसके ऊपर आ गया था और उसके निप्पल को मुंह मैं लेकर चूसने लगा… वो एक दम से कड़क हो गयी थी और उसने मुझे काश कर पकड़ लिया था और मेरा लंड अब उसकी चुत के अंदर जाने के लिए मचल रहा था. तो मैंने उसे-से कहा की मेरा मन अब छुआ करने का हो रहा है.

वो बोली की नहीं मुझे बहुत डर लग रहा है और कही कुछ हो गया तो क्या होगा? नहीं नहीं तुम कुछ मत करो… तो मैंने बोला की डरो मत कुछ नहीं होगा मैं हूँ ना. तो वो मन गयी… लेकिन बोली की मुझे बहुत डर लग रहा है और मैंने सुना है की पहली बार मैं बहुत हे ज्यादा दर्द होता है? क्या यह सही है? तो मैंने बोला की डरो मत कुछ नहीं होगा मैं हूँ ना… फिर मैंने कहा की तुम डरो मत… अगर तुम्हें ज्यादा दर्द हो तो बोल देना मैं नहीं करूँगा. फिर बहुत टाइम के बाद वो मन गयी और मैंने उसे किस करना शुरू किया और एक हाथ उसके बूब्स को दबा रहा था और एक उंगली से उसकी गीली चुत के अंदर डाल दिया तो वो आ… उउउफफफफससस… की आवाजें निकल रही थी.

तो मैं धीरे धीरे उंगली अंदर बाहर कर रहा था और वो आहह.. उउउ… अहहा.. की आवाज़ कर रही थी. फिर मैंने उसकी एक जाँघ पकड़ी और अलग किया और दोनों पैरों को फैला दिया और अपने लंड को उसकी छोटी से चुत पर रख दिया और अपने एक हाथ से उसकी चुत को फैलने लगा और लंड को अंदर डालने लगा . जैसे हे मैंने अपने लंड का टोपा थोड़ा अंदर किया वो ज़ोर से चिल्लाने लगी और मुझे ज़ोर का धक्का देकर दौड़ कर दिया. मैं थोड़ा डर गया और फिर से उसको समझने लगा.

फिर करीब आधा घंटे बाद हमने फिर कोशिश करनी शुरू की पर इस बार मैंने थोड़ा तेल लिया और थोड़ा सा अपने लंड पर लगाया और थोड़ा सा उसकी चुत पर भी लगाया और इस बार मैंने अंदर नहीं डाला. पहले लंड को उसकी चुत पर लगा दिया और उसके ऊपर लेट गया और किस करने लगा.. वो भी मेरा साथ दे रही थी. फिर मैं एक हाथ से लंड को पकड़ कर अंदर डायने लगा और साथ मैं किस कर रहा था और उसके पूरे बदन को सहला रहा था और अचानक एक ज़ोर का झटका दिया मैंने और मेरा आधा लंड अंदर चला गया.

उसने तो रोना शुरू कर दिया और थोड़ा सा खून भी निकल रहा था. करीब 5 मिनट तक मैं उसे किस कर रहा था और मैंने अभी आधा हे अंदर डाला था. फिर जब वो शांत हुई तो मैंने पूरा का पूरा लंड एक और ज़ोर का झटका मर कर अंदर घुसा दिया. पहली बार मुझे इतना अच्छा लग रहा था.

फिर मैंने पूजा की तरफ देखा तो वो तो रो रही थी. मैंने उसको धीरे धीरे शांत किया और अब वो भी मेरा साथ दे रही थी और अपनी गांड उठा उठा कर चुदाया रही थी और मैं अपना लंड उसकी चुत मैं पूरा अंदर तक डाल रहा था… मेरा लंड खून से लाल हो गया था और उसकी आ… उउउहह… उउउम्म्म्म… और ज़ोर से ज़ोर से चोदा और ज़ोर से चोदा कह रही थी मैं उसके ऊपर लाटेकर पूजा को चोद रहा था और 15 मिनट के बाद पूजा का पानी निकल गया था और उसने मुझे कसकर पकड़ लिया था और किस करने लगी थी… लेकिन मेरा लंड तो अभी भी टंकार खड़ा था.

मैंने चोदना जारी रखा और मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर पूजा को चोद रहा था की चोदा ना और चोदा आहह.. उउहह.. एम्म… पूरे कमरे मैं आवाजें आ रही थी और लगभग 30 मिनट और चोदने के बाद मैंने पूजा की चुत मैं हे पानी निकल दिया और उसके ऊपर लेट गया और उसे दिन मैंने पूजा को 3 बार और चोदा उसकी हालत बहुत खराब हो गयी थी और मैं भी बहुत तक गया था. अब जब भी मुझे टाइम मिलता है मैं पूजा को चोदता रहता हूँ.

Best sex stories – पूजा की चुत की सील तोड़ी

Content Protection by DMCA.com

LEAVE A REPLY