घटना मेरे और मेरे नोकर के बीच – kamukta hindi sex kahaniya

121
60589

घटना मेरे और मेरे नौकर के बीच – kamukta hindi sex kahaniya

मेरा नाम अंजलि शर्मा है ये घटना मेरे और मेरे नौकर राहुल के बीच के है. तो मैं अपने बारे में आपको बताती हूँ, मेरी आगे 38 य्र्स है और मेरे नौकर की आगे 18 य्र्स है. मैं एक हाउसवाइफ हूँ. मेरे हज़्बेंड एक कंपनी में इंजीनियर है. हम दिल्ली में रहते है. एक बार मेरे हज़्बेंड का ट्रांसफर लंडन, यू.के. मैं टू मंत्स के लिए हो गया तो राहुल और में भी उनके साथ लंडन घूमने के लिए उनके साथ चल पड़े. लंडन एक खूबसूरत सिटी है और वही पर कंपनी की तरफ से हमें फ्लैट मिला था. मेरे हज़्बेंड मॉर्निंग मैं जल्दी ही ऑफिस चले गये ईवनिंग मैं जब वो आए त उन्होंने बताया की वो 15 डेज़ के लिए दूसरी सिटी के ऑफिस में जाओगे और वही रहेंगे तो मेरा मूंड़ बिलकुल खराब हो गया.

तब उन्होंने कहा तुम दोनों यहां घुमओ मैं 15 डेज़ बाद तुम्हें जाय्न करूँगा. अगले दिन वो चले गये मेरा बिलकुल मूंड़ खराब हो गया था तब राहुल मेरे पास आया और उसने मुझे कहा की मालकिन चलो बाहर घूम कर आते है, फिर हम दोनों लंडन घूमने निकल पड़े. हम दोनों ने घूमते हुए काफी एंजाय किया और मेरा मूंड़ भी फ्रेश हो गया था फिर हम दोनों शॉपिंग के लिए गाए राहुल ने अपने लिए कपड़े खरीदे लेकिन मेरे लिए वहां पर कुछ खरीदने के लिए मिला नहीं क्योंकि मैं केवल सूट सलवार और शादी ही पहनती थी. तब राहुल ने मुझे जीन्स त-शर्ट्स ओर शॉर्ट्स दिलवाएं मैंने काफी मना किया पर वो बोला की मालकिन यहां तो आप ये पहन सकती हो और आप पर ये कपड़े अच्छे लगेंगे तो मैंने भी वो ले लिए फिर मैंने अपने लिए ब्रा और पैंटी खरीदे तब राहुल ने मुझे नेट वाले ब्रा और स्ट्रिप्स वाली पैंटी चूज़ करने को कहा और बोला की ये बहुत सेक्सी लगेंगे मैं उसको ऐसा करता देख कर हैरान हो गयी तब मैंने ट्राइ रूम में जाकर कपड़े पहने और राहुल को दिखाए तो उसने कहा “मालकिन आप बहुत हॉट लग रही हो” तो मैंने स्माइल दे कर कहा “चल हाथ” फिर मैं वही ड्रेस पहन कर राहुल के साथ अपने फ्लैट पर आ गयी वहां आने के बाद हमने खाना खाया और टीवी देखने लगे.

तब राहुल ने कहा मालकिन क्या आपको आज मजा आया घूमने मैं तो मैंने हां में सर हिलाया तो राहुल ने कहा की मालकिन क्या हम कल शाम को डिस्को मैं चले मेरा मूंड़ वहां जाने को कर रहा है और वहां पर सिंगल एंट्री नहीं है तो हम दोनों चले तो मैंने पहले मना कर दिया पर राहुल ने जिद करते हुए कहा वहां हम दोनों डांस करेंगे और काफी मजा आयगा तो मैंने हां कर दी, तो राहुल ने खुश होकर मुझे हग कर लिया और थॅंक्स मालकिन बोलकर मेरे गाल पर किस भी कर दी और वो सोने चला गया उसके गाले लगने और किस करने पर मैं रात को सोते वक्त उसके बारे मैं ही सोचती रही की कही राहुल मुझे एक मालकिन की बजाए एक हॉट औरत की तरह देख रहा है और हर समय मुझे टच करने के लिए मेरे करीब रहने की कोशिश करता रहता है. ये सोचते हुए मैं सो गयी और अगली सुबह. उठी और राहुल को जगाया और हम दोनों ने फ्रेश हो कर ब्रेकफास्ट किया और मैंने राहुल को कहा की में नहाने जा रही हूँ मेरे नहाने के बाद तुम भी नहा लेना फिर हम घूमने चलेंगे राहुल ने हां में सर हिलाया और में नहाने आ गयी नहाने के बाद मैंने राहुल को आवाज़ दी और मेरी ब्रा और पैंटी देने को कहा जबकि में जान भुज कर लेकर नहीं आई थी क्योंकि मैं राहुल को देखना चाहती थी की वो मेरे बारे में क्या सोचता है और में भी उसको लाइक करने लगी थी तो उसको सिड्यूस करना चाहती थी

राहुल मेरी ब्रा और पैंटी ले आया और मुझे बाहर से ही देने लगा तो मैंने उसको अंदर बुला लिया मैं उसे टाइम केवल टावल मैं ही थी जिसमें से मेरे 36 इंच के बूब्स आधे दिखाई दे रहे थे और निकचे से मेरी था ई से तक मेरी लेग्स दिखाई दे रहे थे, राहुल मुझे देखता ही रही गया मैंने उससे ब्रा और पैंटी लिए और उसको बाहर भेज कर कपड़े पहन कर आई. मैंने ब्लैक कलर का टॉप पहना जिसमें से मेरी पूरी कमर दिखाई दे रही थी और मेरे बूब्स की क्लीवेज दिखाई दे रही थी और नीचे मैंने स्कर्ट पहनी हुई थी जिसमें से मेरी आधी था ई से भी दिख रही थी. मुझे देखकर राहुल का बुरा हाल हो गया था और उसके शॉर्ट में मैंने उसके पेनिस को पहली बार खाड़ा होते हुए देखा उसका लंड काफी बड़ा दिख रहा था. फिर वो भी नहाने चला गया उसके नहाकर आने के बाद हम घूमने चले गाए और बाहर ही खाना खाया और शाम तक घूमते रहे हम एक दूसरे का हाथों मैं हाथ लिए जा रहे थे मुझे राहुल का साथ काफी पसंद आ रहा था . फिर हम एक डांस क्लब मैं गये और वहां जाकर हमने देखे की काफी अँग्रेज़ अपनी फ्रेंड्स के साथ एंजाय कर रहे है कोई डांस कर रहा था कोई ड्रिंक्स ले रहा था मैं और राहुल भी एक दूस्सरे के साथ डांस करने लगे फिर राहुल ने कहा की चलो कोल्ड ड्रिंक पीते है फिर राहुल ने कहा की मालकिन हम बीयर पिए तो मैंने मना कर दिया पर वो जिद करता रहा त मैंने कहा चलो ठीक है पर थोड़ी सी पिएँगे और हम दोनों ने बीयर पी ली और हम डांस करने लगे मुझे नशा सा होने लगा और मैं राहुल दोनों काफी क्लोज़ हकेर डांस करने लगे हम दोनों एक दूस्सरे की बांहों में बहे डालकर डांस कर रहे थे तब राहुल ने अपना एक हाथ मेरी कमर पर रखा और मुझे धीरे-धीरे पीछे से सहलाता रहा और एक हाथ मेरे पेट के साइड में रखते हुए मेरे हिप्स तक ले गया और मेरे बिलकुल क्लोज़ आ गया था उसे फेस बिलकुल मेरे साइड में था और वो अपने गाल मेरे गालों से रगड़ रहा था.

फिर मैंने महसूस किया की उसका लंड खड़ा हो गया है और मेरी थाइस पर रगड़ रहा है मेरे शरीर में एक दम से बिजली दौड़ गयी और मैं राहुल के साथ बिलकुल चिपक गयी और फिर वो अपने होंठ मेरे होठों के पास लाया और हम किस करने लगे कुछ देर किस करने के बाद हम वहां एक दूस्सरे के साथ चिपक कर डांस करते रहे फिर थोड़ी देर बाद घर पर आ गये में बिलकुल नशे में चल रही थी हम 10.30 पर घर आए राहुल मुझे पकड़ कर ला रहा था तो वो मेरे साथ ही मेरे कमरे में आ गया हम दोनों बेड पर एक दूसरे की तरफ आकर लेट गये थे तब राहुल ने मेरी आखों में देखा और कहा ¡°मालकिन ई लव यू¡± मैंने उसको स्माइल दी पर कुछ कहा नहीं वो मेरे करीब आ गया और मेरे टॉप के ऊपर से ही मेरे पेट को सहलाने लगा फिर उसने मुझे मुझे होठों पर किस करी हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे ये किस काफी लंबा था हम एक दूसरे की जीभ को होठों को चूस रहे थे फिर राहुल और में बैठ गाए वो मुझे किस करते हुए मेरे कपड़े उतरने लगा पहले उसने मेरा टॉप निकल दिया और ब्रा के ऊपर से ही मेरे बूब्स दबाने लगा.

फिर उसने मेरी स्कर्ट भी निकल दी और वो मुझे बुरी तरह से किस करने लगा उसके बाद उसने अपने कपड़े भी उतरे और मेरे गले लगते हुए मेरे पीछे से ब्रा का हुक खोल दिया और मेरे बूब्स चूसने लगा मुझे बहुत मजा आ रहा था फिर उसने मेरी पैंटी भी उतार फेंकी और मेरी चुत को देखने लगा और फिर साथ के साथ मेरे था ई से पर किस करते हुए मेरी चुत को चाटने लगा मुझे तो बड़ा मजा आने लगा मेरी सिसकियां निकालने लगी और में उसका सर पकड़ कर अंदर की तरफ दबाने लगी मेरा तो बुरा हाल हो गया था में “आआआआ राहुल बड़ा मजा आ रहा हें हाओउउइ” की आवाजें निकल रही थी उसके बाद राहुल ने अपना लंड मेरे मुंह के पास लाने लगा और मुंह में लेने को कहा में मना करने लगी पर राहुल ने ज़बरदस्ती मेरे मुंह में अपना लंड दे दिया और मेरे सर को पकड़ कर अंदर बाहर करने लगा फिर मुझे लंड चूसने में मजा आने लगा और कुछ देर लंड चूसने के बाद राहुल ने मुझे सीधा लिटा दिया और अपने लंबे लंड को मेरी चुत पर रखकर धक्का मारा मेरी तो जान निकल गयी आआआआ राहुल आराम से में मर गयी उूुउउफफफ्फ़ राहुल का लंड उसके अंकल से भी लंबा और मोटा है मैंने ये नहीं सोचा था मुझे बहुत दर्द हुआ राहुल लंड को मेरी चुत के अंदर बाहर करने लगा मेरी भी चीखें निकल रही थी एयाया….. मर..गयी …आराम से उूुउउइइइमाआ ……आआआअ. में बिलकुल चिल्ला रही थी पर कुछ देर बाद मुझे मजा आने लगा और में अपनी गान्ड उठा उठा कर राहुल का साथ देने लगी और कुछ देर बाद हम दोनों ने एक साथ पानी छोड़ दिया और हम ऐसे ही लेते रहे और उस रात राहुल ने मुझे कई बार चोदा.

मज़ेदार सेक्स कहानियाँ

अगले सुबह जब मेरी नींद खुली तब मैं अपने नौकर के बांहों में थी और पूरी नंगी थी. मेरे सारे कपड़े इधर उधर पड़े थे. मैंने उन्हें समेटा और बाथरूम की और चली गयी. मैं तो यही सोच रही थी की जो मैंने जो अपने नौकर के साथ किया वो सही था या गलत. हलकी मैं नशे में थी लेकिन मैं क्या कर रही हूँ ये मुझे होश तो था. मेरा नौकर तो अभी क्या सही क्या गलत नहीं जनता लेकिन अगर मैं चाहती तो इसे रोके सकती थी. पर मैं सेक्स की चाहत में इतनी बह गयी की एक बार नहीं कई बार रात में मैंने अपने नौकर से चुड़वाई. लेकिन उस बात का मुझे बहुत ही अफसोस हो रहा था.मैंने सोच लिया था की बस जो हुआ सो हुआ लेकिन अब मैं आगे नहीं बडूँगी. और नहा के किचन की और बाद गयी. और नाशता बनाने लगी तभी मेरे कमर से होते हुए दो हाथ मेरे स्तानो पे आ गये मैं ने देखा तो मेरा नौकर नंगा ही किचन में आ के मुझसे पीछे से लिपटा है और उसका ताना लंड मेरे सारी के ऊपर से ही पिछवाड़े गुडो के दरमियान रगड़ कहा रहा है. मेरे स्तानो की मसल्न और गांड में होने वाली रगड़ से मेरा संयम टूटा सा जा रहा था. मैं तो अपने आप को ही रोक नहीं पा रही थी. तो बाला नौकर को कैसे रोक पति.मैं ने जैसे तैसे उसे नहाने भेज दिया. फिर नशा था दिया. आज मेरे नौकर के चेहरे पे एक अनोखी खुशी ज़लाक रही थी. वो टीवी देख रहा था. मैं ने सोच लिया की मैं अपने नौकर से कल के बारे में बात करूँगी.और मैं अपने नौकर के पास आ गयी और उसे कहा राहुल मैं तुमसे बात करना चाहती हूँ.

राहुल : हां मालकिन कहो ना.
मैं : कल रात को जो अपने बीच हुआ वो अब फिर नहीं होना चाहिए.
राहुल : (चौंक ते हुए) लेकिन क्यों मालकिन मुझे कुछ गलती हुई क्या.
मैं : नहीं ऐसी बात नहीं है.
राहुल : तो मालकिन तो आपको कल रात मेरे साथ मजा नहीं आया. अगर ये बात है तो मुझे एक और मौका दीजिए इसे बार मैं आपको खुश कर दूँगा.
मैं : ये बात नहीं है तूने तो मुझे तेरे अंकल से भी ज्यादा खुश कर दिया.
राहुल : फिर के बात है मालकिन.
मैं : मैं तेरी आंटी हूँ और आंटी नौकर में ऐसे संबंध पाप होते है.और हमारे बीच जो हुआ वो किसी को पता चला तो अनर्थ हो जाएगा.
राहुल : मालकिन ये आप क्या कह रही है. मुझे कुछ समाज नहीं आ रहा है. अगर मालकिन सेक्स करना पाप है तो कल रात हम ये पाप कर चुके है. और अपने बीच में जो हुआ वो हम दोनों के सिवाय किसी को पता नहीं चलेगा.
मैं : मुझे ये पता नहीं लेकिन अब हमारे बीच में सेक्स नहीं होगा.
राहुल : मालकिन ये आप क्या कह रही है. अगर आपको मेरे साथ सेक्स करना ही नहीं था तो आपने मुझे अपने जल में फँसा ही क्यों आपने मुझे अपने बदन को दिखाया ही क्यों. इसे सब की शुरूआत तो आपने ही की थी.और आप ही मुझे इस तरह दूर कर रही है. ठीक है अगर आप यही चाहती है तो यही होगा. कह
राहुल गुस्से से अपने रूम में चला गया और दरवाजा लॉक कर लिया. मैं तो अभी भी टीवी के सामने सोफे पे बैठी थी. हां शायद राहुल सही कह रहा था.अगर मैं ने उसे उस दिन नहाते हुए सडुस नहीं किया होता. उसके साथ चिपक के डांस नहीं किया होता तो वो आगे बड़ता ही नहीं था. लेकिन मैंने अब जो किया था उसे पीछे हटाना नौकर के लिए बहुत मुषा किल था. अगर वो चाहता तो मुझे ब्लैकमेल कर के भी चोद सकता था लेकिन उसने ऐसा नहीं किया. लेकिन मैं तो उसके साथ जाती कर रही थी. मैं अपना फैसला अब बदल ना चाहा थी. की अब मैं अपने नौकर को और दुखी नहीं करना चाहती थी. अगर ये पाप ही सही मैं इस पाप को अपने माथे पे लेने के लिए तैयार थी.और मैं ने सोच लिया की अपने खुशी के लिए नहीं तो अपने नौकर के खुशी के लिए उससे सेक्स करूँगी.रात में उसके साथ सेक्स में जो मजा था इसको तो मैं शब्दों में बया नहीं कर सकती थी. शायद मेरे मान बस इस बात की तकरार थी की वो मेरा नौकर था.यही कारण था की मैं ने ऐसा फैसला किया था. लेकिन ऐसा फैसला करते वक्त मैंने ये नहीं सोचा था की मेरे नौकर पर मेरे इस फ़यसले का असर क्या होगा.लेकिन अब और दुख मेरे नौकर को नहीं देना चाहती थी. मैं ने सोच लिया की अब मैं उसके साथ सेक्स करूँगी और कुद भी मजे लूँगी.मैं तो अपने नौकर से बात करने से डर रही थी. मैं ने एक बार बात करने की कोशिश भी की लेकिन वो मुझसे बात ही नहीं कर रहा था.अब दोपहर हो गयी थी मैं खाना लेकर उसके कमरे का दरवाजा खत खटिया नौकर ने दरवाजा खोला उसके आंखें भारी थी. वो मुझसे माफी माँग रहा था. मैं समाज नहीं पा रही थी वो ऐसा क्यों कर रहा था.
राहुल : मालकिन मैं ने गुस्से में जो कहा मुझे माफ कर दो.मैं जनता हूँ की गलती मेरी भी है मुझे रुकना चाहिए था.
मैं : माफी तो मुझे तूज़ से मागनी कहिए ये सब मेरे कारण ही हुआ.
राहुल : जो हो गया सो हो गया हमारे बीच जो हुआ ये मैं किसी को नहीं बताऊंगा और आज के बाद इसको भूल जाऊंगा.
मैं : उसकी कोई जरूरत नहीं कुकी मैं ने सोच लिया है की अब मैं तेरे साथ सेक्स करूँगी फिर इसका एँजम कुछ भी हो.
राहुल : मालकिन तुम सच कह रही हो.
मैं : हां. बस इसे का किसे पता नहीं चलना कहिए.जो होगा बंद कमरे में और बंद कमरे में तो मैं तेरी हूँ फिर तुम मुझे अपनी रंडी समजो या तेरी बीवी लेकिन बाहर वालो के लिए तेरी आंटी .
राहुल : हां मालकिन इस बात की किसी को कबाड़ नहीं होगी. लेकिन अब मेरा लंड भी टाइट हो गया है.

मैं भी देख सकती थी की मेरे नौकर का लंड चड्डी में तंबू बनकर खड़ा था.मैं ने उसके खड़े लंड को बाहर निकाला उसके खड़े लंड को देख कर मेरे मान में उसे मुमे लेकर चूस ने की एआछा होने लगी.

तो मैंने उसे अपने मुमे भर ने लगा उसका लाल सूपड़ा मुझे ललचाने लगा मैं ने उसे सुपाडे पे जीभ फेयर ली राहुल के लंड ने तो एक झटका मर दिया उसके बदन में भी एक रोमच सा दौड़ पड़ा अब मैंने थोड़ी देर सुपाडे को चाट ने के बाद उसके लंड को अपने मुमे भर लिया उसका मोटा और तगड़ा लंड मुमे पूरी तरसे नहीं ले पा रही थी.उसका पूरा लंड मेरे गले तक फँस रहा था. मैंने तो अब राहुल के लंड को अपने मुमे अंदर बाहर करना शुरू कर दिया.मेरे नौकर का लंड मुमे लेने में मुझे परेशानी तो हो रही थी पर लेकिन उसके लंड को लोलीपोप की तरह चूसने में मुझे मजा भी आ रहा था.मेरा नौकर मेरी चूसा से पागल हो रहा था. उसके दोनों हाथ मेरे बालों में फेज़ थे.वो तो अब पागल हुआ जा रहा था. वो तो खुद मेरे मुंह को अपने लंड पर दबा रहा था.जिससे उसका लंड मेरे गले तक अटक रहा था. उसका लंड जब मेरे गले तक जाता तो मेरे सांसें अटक सी जाती.कुछ ही पलों में उसकी ये हरकत तेज हो गयी शायद वो निकालने के नज़दीक आ गया था. उसने तो अब मेरे सर को बालों को पकड़ कर अपने लंड पर ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा. उसका लंड तो मेरे गले में भी पूरी अंदर गुस रहा था. जिससे मेरी हालत करब हो रही थी. कुछ ही देर में उसके लंड से माल निकालने लगा और मेरा मुंह उसके रसीले रस से भर गया. और मैं ने उसका लंड बाहर नाकला और उसे माल मैं गटक गयी.उसका स्वाद नमकीन था और किस अमृत की तरह नौकर का ये अमृूट पी मैं धनी हो गयी.मैंने तो नौकर के लंड पे बच्चा कुछ अमृत भी चाट गयी. फिर उसके लंड को मैंने चड्डी के अंदर डाल दिया. मेरी सारी ठीक की फिर हम गुम्ने बाहर चले गये.

घटना मेरे और मेरे नौकर के बीच kamukta hindi sex kahaniya

Content Protection by DMCA.com

121 COMMENTS

  1. Vanita tumhara no do mai tuze khush kar dunga mere land ka saiz 8 inch ka h kya muzse chudvaogi mera land khada h…

  2. Nice story….

    sex stories
    hindi audio sex stories
    hindi story
    incest stories
    didi ki chudai
    audio sex stories
    chudai story
    behan ki chudai
    hindi stories
    hindi sex audio
    audio sex story
    chachi ki chut
    sex hindi
    hindi audio sex
    hindi chudai kahani
    chachi ki
    gay sex stories
    erotic stories
    hindi chudai story
    hindi kahaniya
    chudai ki kahani
    hindi sex audio story
    chudai ki story
    incest story
    sexy varta

  3. Aap ko kabhi chudvana ho to caal kare
    Kishi ko bhi meri age 24 Hai aap apna nambar mere email id par bejna mai bat kar luga

  4. Aap ke setori acha lga and kisi bhai ya bhabhi sex me prablm ho to col kra ke aapni smesya ko dur kr sakte hee Dr. H m tripathi(Sexa Lojist) fon no col kre

  5. Mera Lund lelo bhul jaogi Rahul ko 7″3ka mjbut Lund h kisi ledy ko chudna ho to chudne me liye meri gmail PR contect kro

LEAVE A REPLY