Home हिन्दी सेक्स कहानियाँ मेरी सेक्सी सिस्टर्स कजिन बहनों से रास लीला – Part – 130

मेरी सेक्सी सिस्टर्स कजिन बहनों से रास लीला – Part – 130

0
15

की….. वाहह!!!! बिल भरके जैसे ही मैं अपनी कॅब में पहुँचा, वहाँ पूजा के साथ ज्योति भी थी….

“चलो, अब चलें इसे चोदने” मैंने कॅब में बैठते पूजा से कहा…

“सन्नी….आज की रात यह अपने होटल ना जाए तो…….”

रेस्तरां में हुए कॉंपिटेशन के बाद तो एक बात साफ थी… पूजा दिखने में जितनी सीधी थी, उतनी सीधी है नहीं.. कॅब में बैठते हुए जब मुझे पूजा ने कहा के ज्योति को वो अपने रूम में ले जाएगी आज, मुझे पहले तो कुछ समाज नहीं आया, पर तुरंत मुझे ख्याल आया, कहीं पूजा कुछ उल्टा ना कर दे ज्योति के साथ.. चाहे जो भी हो, मैंने अभी तक पूजा की कहानी को स्वीकारा नहीं था, इसलिए मैं चाहता था अंत तक ज्योति मेरे साथ रहे… आज भी दिल पूजा से ज्यादा भरोसा ज्योति पे करता था…

“तुम्हारे रूम में क्यों बेबी…हम तो नाइट साथ में स्पेंड करने वाले थे ना, फिर ज्योति को चोद दो ना, आगे के लिए बच्चा के रखो उसकी सजा… ” मैंने पूजा को बाहों में लेते हुए कहा…

पूजा बलखाती हुई मेरे सीने से ऐसे लिपटी जैसे चंदन के पेड़ से अजगर… पूजा ने अपने बदन को ढीला चोद दिया मेरे ऊपर… पूजा मेरी गोद में लेती हुई थी, ज्योति को उसने आगे की सीट पे बिठाया था…

“सन्नी…आप सही बोल रहे हैं , हम यहाँ आए थे सब बातों को भूलने, पर ज्योति का यूँ अचानक इधर आना, मुझे कुछ सही नहीं लग रहा…जरूर यह यहाँ किसी मकसद से आई है” पूजा ने मेरे गालों पे हाथ फेरते हुए कहा

(अरे जानेमन, अब तुझे क्या बताऊं… ज्योति और मेरा बिछड़ना, हमारा अलग होना, सब नाटक था तेरे करीब आकर तुझे अपने रास्ते से साइड करने के लिए, पर अब तू भी नयी कहानी लाई है, इसके लिए मुझे ज्योति को यहाँ बुलाना पड़ा) … मैं इस सोच में पड़ गया था, यूँ अकहंक मुझे सोचते हुए देख, पूजा फिर बोली

“सन्नी… आप सुन रहे हैं ? कुछ सोच रहे हैं तो शेयर कीजिए”

[td_block_9 custom_title="मज़ेदार सेक्स कहानियाँ" header_color="#dd3333" tag_slug="indian-desi-sex-stories" sort="random_posts" limit="5"]

“नहीं… कुछ भी नहीं पूजा, देखो तुम्हें जो ठीक लगे वो करो, अगर तुम्हें लगता है ज्योति कुछ नुकसान पहुँचने आई थी हमें, तो उसमें तुम गलत हो.. और ज्योति मेरी सबसे प्यारी बहन है, मैं नहीं चाहूँगा के उसे कोई नुकसान पहुँचे…एक बार मेरा दिल जा और निशा को तकलीफ में देख सकता है, पर ज्योति को चोट पहुँचेगी तो उससे कहीं ज्यादा दर्द मेरे दिल में होगा…” पूजा को समझते समझते मेरा दिल भर आया था..
मुझे समाज नहीं आ रहा था के कोई कैसे अपने होनेवाली बीवी से यह सब बोल सकता है.. वो भी उस वक्त जब उसको खतरा भी उसी प्यारे इंसान से है…. पूजा ने मेरी भावनाओं को समझ कर, मेरी आँखों से निकल रहे अश्क देखे, वो उठकर मेरी आँखों के आँसू अपने होठों से चूसने लगी…. यह देख के मुझसे रहा नहीं गया और मैं पूजा के सीने से लिपट के सिसकियाँ लेने लगा… शायद इतने दिन बाद मुझे रोना अच्छा लग रहा था, मैं अपने दिल को हल्का कर देना चाहता था…

“आए मेरा बच्चा, क्यों रो रहे हैं आप…आप के जज़्बातों की कदर करती हूँ मैं सन्नी.. आप बेफ़िक्र रहें, ज्योति अगर आपकी जान है तो मैं भी उसका उतना ही ख्याल रखूँगी… पर आज आप मुझे अगर रोकेंगे तो शायद हम इस सिलसिले में आगे ना तरफ पायें… मैं आपके पीछे ही हूँ… अगर आपकी मर्जी नहीं है तो रहने देते हैं..” पूजा मेरे गले में अपनी बाहों का हार बना के मुझे मना रही थी.

फाइनली, मैं पूजा की बात मान गया… जब तक हम होटल पहुँचते, तब तक हम खामोश थे, मेरे दिमाग में सवालों,का सैलाब सा आया हुआ था, मैं बार बार सोच रहा थे के पूजा ज्योति से क्या बात करेगी , ज्योति नशे में कहीं उसको यह ना बता दे, के वो मेरे कहने पे यहाँ आई हुई है… सोचते सोचते हम होटल की लॉबी में पहुँचे जहाँ पूजा और मैं ज्योति को कंधा देकर लिफ्ट की तरफ बढ़े, हम जैसे ही पूजा के रूम के करीब पहुँचे मैं कुछ बहाना करके वापस लॉबी में आ गया रिसेप्षन पे..

“ही.. अभी हॅव आक्च्युयली फर्गॉटन और आक्सेस कार्ड इनसाइड थे रूम… प्लीज़ इश्यू में आ न्यू वन, और ब्लॉक थे ओल्ड वन इफ़ यू वॉंट”
मैंने रिसेप्षन पे झूठ बोलकर पूजा का रूम का आक्सेस ले लिया…. पूजा के रूम में आज बहुत कुछ खुल सकता था, मैं किसी भी कीमत पे आज की रात ज़ाया नहीं करना चाहता था… न्यू आक्सेस लेकर मैं पूजा के रूम के पास चला गया, वो लोग अंदर जा चुके थे , अब उनका कार्ड ब्लॉक्ड था… मैं पूजा को सी ऑफ करके और….

मेरी सेक्सी सिस्टर्स – कजिन बहनों से रास लीला

मेरी सेक्सी सिस्टर्स कजिन बहनों से रास लीला – Part – 1 >>
Content Protection by DMCA.com

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here