नौकरानी की लड़की की चुदाई

0
2578

नौकरानी की लड़की की चुदाई – naukrani ki 18 sall ki ladaki ki chudai

मेरा नाम राज कुमार है और मेरी 22 साल की है. सब मुझे राजू कह कर बुलाते हैं. घर पर मेरे अलावा मेरे भैया मोहन और भाभी सोनिया हैं. भैया की शादी 1 साल पहले ही हुई है. भाभी एक दम गोरी और स्लिम हैं. दिखने में वो बहुत ही सेक्सी लगती हैं. उनकी कमर भी बहुत ही पतली है. भैया की उमर 24 साल और भाभी की उमर 20 साल की है. हमारे घर एक नौकरानी काम करने आती है. उसका नाम मधु है और उसकी उमर 34-35 साल की है. उसका रंग कुच्छ सांवला है लेकिन उसकी फेस कटिंग बहुत ही अच्छी है. वो हमारे घर 5-6 साल से काम करती है. मधु की एक लड़की है जिसका नाम नेहा है. नेहा की उमर 18 साल की है. दिखने में वो अपनी आंटी से बहुत ज्यादा खूबसूरत है. वो जब छोटी थी तब से ही अपनी आंटी के साथ कभी कभी हमारे घर आया करती है. नेहा जब से जवान हुई है तब से ही मैं उसे चोदने का ख्वाब देखता रहता हूँ. एक दिन भैया और भाभी 10 दीनों के लिए टूर पर चले गये. उस दिन जब मधु काम करने आई तो घर पर केवल मैं था. मधु ने मुझसे पूछा की भैया और भाभी घर पर नहीं हैं क्या. मैंने कहा वो 10 दीनों के लिए बाहर गये हैं. उसके बाद वो अपने काम में लग गयी. मैंने मधु से कहा मैं नहाने जा रहा हूँ, तुम नाश्ता बना दो. वो नाश्ता बनाने चली गयी और मैं नहाने चला गया. बचपन से मेरी आदत थी की मैं बहुत ज्यादा देर तक नहाता था और नहाते समय कभी भी बाथरूम का दरवाजा बंद नहीं करता था. ये बात मेरे भैया और भाभी जानते थे लेकिन उन्होंने कभी मुझे टोका नहीं. मधु ये बात नहीं जानती थी. भाभी बहुत नटखट थी और कई बार नहाते समय अचानक बाथरूम में आ चुकी थी ओर मुझे एक दम नंगा ही नहाते हुए देख चुकी थी. उन्होंने कई बार मेरा लंड भी देखा था.

वो कभी कभी मुझसे मज़ाक में कहती थी ड्राइवर जी, तुम्हारा लंड बहुत ही लंबा और मोटा है. मेरा मान भी इसका स्वाद चखने का होता है. मैं केवल मुस्करा कर रही जाता था. वो जब मुझे ज्यादा च्छेदती तो मैं कह देता चलो बेडरूम में. तब वो मुस्करा देती. उस दिन जब मुझे नहाते हुए बहुत देर हो गयी तो मधु बाथरूम के पास आई और जैसे ही उसने दरवाजे पर हाथ रखा तो दरवाजा खुल गया. मेरा लंड एक दम खड़ा था. उसने मुझे एक दम नंगा देखा तो हँसने लगी और जैसे ही उसकी निगाह मेरे 8″ के लंबे और मोटे लंड पर पड़ी तो वो मेरा लंड देखती ही रही गयी. थोड़ी देर बाद मैंने उस से पूछा क्या हुआ. उसने मेरे लंड की तरफ इशारा करते हुए कहा आज तक मैंने ऐसा औजार नहीं देखा. मैंने कहा तो अब देख लो. मैंने अपना लंड हाथ में पकड़ लिया और उसे दिखाने लगा. थोड़ी देर तक वो मेरा लंड देखती रही तो मैंने पूछा तुम्हारे पति का औजार कितना बड़ा है. वो बोली तुम्हारे औजार से बहुत छोटा और पतला. उसकी आँखें जोश से गुलाबी सी होने लगी थी. वो बोली मैं इसे अपने हाथ से पकड़ कर देख लंड. मैंने कहा देख लो. उसने मेरा लंड अपने हाथ में ले लिया और बहुत देर तक देखती रही. कुच्छ देर बाद उसने मेरा लंड सहलाना शुरू कर दिया तो मैंने कहा ये क्या कर रही हो मधु. अभी इसका सारा पानी निकल जाएगा. वो बोली तो क्या हुआ, अगर तुम चाहो तो इसका पानी मेरे मुंह में निकल दो. मैंने कहा इसका पानी तो चुत में निकाला जाता है. उसने कहा तो चुत में ही निकल दो ना, मैं तैयार हूँ. मैंने पूछा इसे अपनी चुत के अंदर ले पाएगी, दर्द बहुत होगा. वो बोली मैं तो अब इसे पूरा का पूरा अंदर ले कर रहूंगी, चाहे जो हो जाए. मैंने कहा ठीक है. वो बोली मैं इसे एक बार चूस लंड. मैंने कहा अगर इसका पानी निकल गया तो. उसने कहा मैं एक बंद भी बाहर नहीगिरने दूँगी. सारा का सारा पानी निगल जाऊंगी.

मैंने कहा चूस लो. मधु ने मेरा लंड अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी. उसे बहुत मजा आ रहा था. वो बहुत तेजी के साथ और बारे प्यार से मेरा लंड चूसने लगी. थोड़ी देर बाद मेरे लंड का जूस उसके मुंह में निकालने लगा तो उसने सारा का सारा जूस निगल लिया. सारा जूस निगलने के बाद उसने मेरा लंड चाट चाट कर साफ कर दिया. मैंने कहा अब चलो नाश्ता लगा दो. वो नाश्ता लगाने चली गयी और मैं नहाने लगा. मैं नहा कर ड्रॉयिंग रूम में आया और नाश्ता करने लगा. नाश्ता करने के बाद उसने मुझसे कहा अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है. अब तुम मुझे चोद दो. खूब ज़ोर ज़ोर से चोदना. मैंने कहा ठीक है. पहले इसे चूस कर तैयार तो करो. उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया. थोड़ी ही देर में मेरा लंड खड़ा हो गया तो मैंने उसे ज़मीन पर लिटा दिया और उसकी टाँगों के बीच आ गया. मैंने अपना लंड उसकी चुत के बीच रख दिया और उसकी टाँगों को पकड़ कर एक जोरदार धक्का मारा. एक ही धक्के में मेरा लंड उसकी चुत में 5″ तक घुस गया. शायद उसके पति का लंड 5″ का रहा होगा. वो चिल्लाने लगी तो मैंने कहा चिल्लाओ मत वरना मैं तुम्हें नहीं चोदूंगा. वो बोली बहुत दर्द हो रहा है. मैंने कहा तो इस दर्द को बर्दाश्त करो. उसने कहा तुम मेरा मुंह दबा कर अपना पूरा लंड अंदर डाल दो तब मेरे मुंह से कोई आवाज़ नहीं निकलेगी.

मज़ेदार सेक्स कहानियाँ

मैंने एक हाथ से उसका मुंह दबा दिया और बहुत ही जोरदार 8-10 धक्के लगा दिए. उसके मुंह से केवल गू गू की आवाज़ ही निकल पाई और मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चुत में समा गया. पूरा लंड घुसा देने के बाद मैंने उसके मुंह से अपना हाथ हटा लिया और उसकी चुदाई शुरू कर दी. थोड़ी देर तक वो दर्द से रगड़ती रही लेकिन उसके बाद उसे मजा आने लगा. 10 मिनट की चुदाई के बाद ही मधु झाड़ गयी तो मैंने और ज्यादा तेजी के साथ उसकी चुदाई शुरू कर दी. वो भी पूरे जोश में आ चुकी थी और हर धक्के के साथ अपना चूतड़ उठाने लगी थी. उसके चूतड़ उठाने से मेरा पूरा कपूरा लंड झड़ तक उसकी चुत में घुस जाता था. 10 मिनट और चुदवाने के बाद मधु फिर से झाड़ गयी. अब वो और तेज और तेज कहने लगी तो मैंने अपनी बढ़ता तेज कर दी. उसकी चुत से पाँच पाँच की आवाज़ होने लगी. मैंने मधु से पूछा कभी तुमने गान्ड मरवयाई है तो उसने कहा उसने कहा 2-3 बार मरवाया है. मैंने पूछा गान्ड मरवायेगी तो वो बोली मुझे तुम्हारे लंड से चुदवाने में बहुत मजा आ रहा है, तुम मेरी गान्ड भी मर देना. 15 मिनट और चोदने के बाद जब मैं झड़ने वाला था तो मैंने बहुत ज़ोर ज़ोर के धक्के लगाने शुरू कर दिए. वो आहह आस करते हुए खूब मजे से चुदाया रही थी. 2 मिनट और चोदने के बाद मैं उसकी चुत में ही झाड़ गया. मेरे साथ ही साथ वो भी फिर से झाड़ गयी. थोड़ी देर बाद मैं उसके ऊपर से हाथ गया तो वो मेरा लंड चूसने लगी. 15-20 मिनट तक वो मेरा लंड चुस्ती रही तो मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. मैंने मधु को डॉगी स्टाइल में कर दिया और अपना लंड उसकी चुत में डाल कर उसकी चुदाई शुरू कर दी. इस बार 5 मिनट तक ही चुदवाने के बाद वो झाड़ गयी तो मेरा लंड एक दम जेला हो गया. मैंने अपने लंड उसकी चुत से निकल कर उसकी गान्ड के छेद पर रख दिया. मैंने एक जोरदार धक्का मारा तो उसके मुंह से एक जोरदार चीख निकली और मेरा लंड उसकी गान्ड में 4″ तक घुस गया. उसके बाद मैंने उसकी कमर को पकड़ कर 4-5 बहुत ही जोरदार धक्के लगाए तो मेरा लंड उसकी गान्ड में 7″ तक घुस गया.

वो बहुत ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी. मुझे उसके चिल्लाने से बहुत मजा आ रहा था. मैंने उसकी कमर को पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए. 5 मिनट में ही वो शांत हो गयी तो मैंने एक जोरदार धक्का और मारा. उसके मुंह से एक ज़ोर की चीख निकली और मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी गान्ड में घुस गया. फिर मैंने तेजी से धक्के लगाने शुरू कर दिए. लगभग 20 मिनट तक मधु की गान्ड मरने के बाद मैं उसकी गान्ड में ही झाड़ गया. भैया और भाभी के आने तक मधु ने मुझसे खूब चुदवाया और गान्ड भी मरवाई. वो मुझसेचूड़वा कर बहुत ही खुश थी. चुदवाने के बाद वो मेरे सारे बदन की मालिश भी करती थी. भैया और भाभी के आने के बाद भी जब भैया ऑफिस चले जाते और भाभी नहाने चली जाती तो वो मेरे रूम में आ कर चुदाया लेती थी. एक दिन जब मैं मधु को चोद रहा था तो भाभी ने देख लिया. भाभी ने मुझसे कहा आख़िर तुमने मधु को चोद ही दिया. मधु ने भाभी से कहा आप के ड्राइवर का लंड ही ऐसा है की मैं अपने आप को नहीं रोक पाई. भाभी ने मुझसे कहा क्यों ड्राइवर जी मेरा नंबर कब आएगा. मैंने मुस्कुराते हुए अभी आ जाओ. भाभी मुस्करा कर रही गयी. उसके बाद भैया जब ऑफिस चले जाते तो भाभी खुद ही मुझसे कह देती की अब तुम मधु को चोद लो. कभी कभी मधु को चोदते समय भाभी चुप चाप खड़ी हो कर देखने लगती.

1 महीने बाद मधु को अपने पति के साथ 10 दीनों के लिए गाँव जाना था. वो नेहा को साथ लेकर आई और उसने भाभी से कहा मैं गाँव जा रही हूँ, तब तक नेहा आप के पास ही रहेगी. भाभी ने धीरे से मधु से कहा अगर राजू ने नेहा को चोद दिया तो. मधु बोली ऐसे लंड से चुदवाना किस्मत वालो को नसीब में होता है. भाभी मुस्कराने लगी. वो नेहा को भाभी के पास छोड कर चली गयी. मधु के जाने के दूसरे ही दिन अचानक भैया और भाभी को 10 दीनों के लिए बाहर जाना पड़ गया. भाभी जानती थी की उनके जाने के बाद नेहा मुझसे बच नहीं पाएगी. भाभी ने मुस्कुराते हुए मुझसे कहा नेहा अभी छोटी है. संभाल कर चोदना. मैंने पूछा आप को कैसे मालूम की मैं नेहा को चोदने वाला हूँ. वो बोली मैं तुम्हारी निगाहों की भाषा खूब समझती हूँ. क्या तुम मुझे चोदने का ख्वाब नहीं देखते. मैंने अपना सर झुका लिया तो वो बोली वक्त आने दो मैं भी तुम्हारे लंड का स्वाद जरूर चखूँगी. दूसरे दिन सुबह के 6 बजे ही भैया और भाभी बाहर चले गये. मैं उठा और बाथरूम में जा कर नहाने लगा. नेहा को चोदने का ख्याल मान में आते ही मेरा 8″ का लंड खड़ा हो गया. मैंने नेहा को पुकारा. वो आई तो मैनेआल मान में आते ही मेरा 8″ का लंड खड़ा हो गया. मैंने नेहा को पुकारा. वो आई तो मैंने बाथरूम का दरवाजा खोल दिया. उसकी निगाह जैसे ही मेरे ऊपर पड़ी तो उसने अपना मुंह फेयर लिया और बोली क्या है. मैंने कहा क्या मैं इतना बदसूरत हूँ की तुमने अपना मुंह फेयर लिया. वो बोली नहीं ऐसी बात नहीं है. तुम एक दम नंगे हो इस लिए मुझे शर्म आ रही है. मैंने कहा कैसी शर्म. यहाँ मेरे और तुम्हारे अलावा कोई नहीं है. जाओ बेडरूम से मेरा टावल ले आओ. वो टावल लाकर आई तो उसने नजरें झुकाए हुए ही मुझे टावल दे दिया. मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपनी तरफ खेंच लिया. वो बोली मेरा हाथ छोड दो नहीं तो मैं तुम्हारे भैया से कह दूँगी. मैंने कहा क्या कहोगी यही ना की मैं तुम्हारे सामने एक दम नंगा था और अपना लंड दिखा रहा था. मैं भी भैया से कह दूँगा की तुम खुद ही मुझे अकेला पा कर मुझसे अपना लंड दिखाने को कह रही थी. वो मेरी ही बात पर विश्वास करेंगे तुम्हारी बात पर नहीं. वो कुच्छ नहीं बोली. मैंने कहा मैं तो केवल तुम्हें अपना लंड दिखा कर तुमसे ये पूछना चाहता हूँ की तुम्हें मेरा लंड कैसा लग रहा है. मैंने उसके सर के बाल पकड़ कर उसका चेहरा अपने लंड की तरफ कर दिया और कहा थोड़ी देर तक मेरा लंड देखो और बताओ तुम्हें मेरा लंड कैसा लगा. वो डर के मारे मेरे लंड को देखने लगी.

धीरे धीरे उसकी आँखें गुलाबी सी होने लगी. मैं समझ गया की उसे भी जोश आने लगा है. मैं चुप चाप खड़ा रहा और वो मेरा लंड देखती रही. थोड़ी देर बाद वो बोली अब जाने दो, अभी मुझे नाश्ता बनाना है. मैंने कहा पहले तुम ये बताओ मेरा लंड कैसा लगा. वो बोली बहुत अच्छा है. मैंने उसके बाल छोड दिए और वो किचन में चली गयी.

नौकरानी की लड़की की चुदाई – naukrani ki 18 sall ki ladaki ki chudai

Content Protection by DMCA.com

LEAVE A REPLY