Home Hindi Sex Stories गर्लफ्रेंड की चुदाई उसके घर – Sex With Girlfriend In Her Home

गर्लफ्रेंड की चुदाई उसके घर – Sex With Girlfriend In Her Home

3
249

मेरा दोस्त जहां रहता था वो लोग अब बाहर जाने वाले थे तो उसे दूसरे घर में समान शिफ्ट करना था. जो की वो मेरा आ66आ दोस्त था तो उसने मुझे बुलाया हेल्प के लिए.

तो मैं गया उसके साथ. जैसे ही हम पोहचे वहां एक आंटी खड़ी थी. एकडम मस्त. उसे देखते ही मेरी नज़र उसी पे रुक गयी. मैंने मेरे दोस्त से पु6आ के ये आंटी कौन है तो उसने बताया के ये उसीका घर है जिसमें मेरा दोस्त रहने आया है. पर सचमे दोस्तों क्या माल लग रही थी ब्लैक सारी में. शायद 30 की होगी वो. एकडम फिटिंग ब्लाउज में से उसके बूब्स तो मचल रहे थे निकालने को. उसे देखते ही मेरी तो काम वासना जगह उठी.

फिर हम सामान उतारने लगे. सारा सामान रूम में लेजाकर रख दिया. धूप बहुत थी तो हमारी हालत बहुत खराब हो चुकी थी. तो थोड़ी देर हम बैठ गये. फिर प्यास लगी थी हमें और रूम में पानी नहीं था तो मेरे दोस्त ने कहा के जा और उसे आंटी से पानी माँग के ले आ. मैं गया तभी तक वो वही दरवाजे पे खड़ी थी. मैंने जाकर उनसे पानी माँगा. वो थोड़ा सा मुस्कराई और बोली के लाती हूँ. फिर वो अपनी मोटी गान्ड मटकते हुए अंदर पानी लेने चली गयी.

मैं भी उनके पी6ए पी6ए अंदर घुस गया और उनसे पु6आ के अंकल दिखाई नहीं दे रहे..? तो उन्होंने बताया के उन्हें जॉब की वजह से कही भी जाना पड़ता है और अभी मुंबई गये है कल ही. मैंने पु6आ के और कौन कौन रहता है घ्र्मे तो उन्होंने बताया के उनका एक बेटा है और वो भी पढ़ने के लिए बेंगलोर गया है. फिर मैंने पानी की बोतल ली और दोस्त के रूम में आ गया. फिर पानी पिया और वही सो गया.

शाम को वो हमारे रूम में आई. पर हम थके हुए थे तो तभी तक सोए ही थे. उन्होंने मुझे जगाया. मैं उन्हें देखता ही रही गया. लाइट पिंक सारी में वो बहुत ही खूबसूरत माल लग रही थी. फिर मैंने अपने मुंह धोया वो बोली के वो बाहर जा रही है और रूम की चाबी देनी थी उन्हें मेरे दोस्त को और उन्होंने कहा के अगर किसी चीज़ की जरूरत हो तो मुझे फ़ोन करना और हमने अपने मोबाइल नंबर एचांगे किए. मैंने कहा के मेरा दोस्त यहां रहने वाला है मैं नहीं. तो उन्होंने थोड़ी नॉटी सी स्माइल दी और चली गयी.

रात को करीब 11 बजे उनका फ़ोन आया. दिन के काम की वजह से मैं बहुत तक गया था तो सो गया था. मैं मोबाइल की स्क्रीन देखी नहीं और नींद में ही उनका फ़ोन रेसीएवे कर लिया.

सामने से लड़की की आवाज़ आई हेलो तो मैंने स्क्रीन देखी तो आंटी का फ़ोन था. मैं शॉक हो गया. मुझे पता था के उनका फ़ोन आएगा पर इतनी जल्दी ये नहीं सोचा था कभी. फिर हमने बातें शुरू की और करीब 1 बजे तक हमारी बात चली. फिर हम सो गये.

दूसरे दिन दोस्त की कुछ चीज़ें मेरे पास थी तो वो लौटने के बहाने मैं वहां गया. तभी वो सब्ज़ी ख़रीदकर आ रही थी. मैंने उनको देखकर स्माइल की और वो भी मुस्कराई. अब हम रोज़ बातें करने लगे. कभी कभी अडल्ट बातें भी हो जा करती थी. वो मेरे साथ बहुत खुश थी शायद.

फिर एक दिन वो बात करते करते रोने लगी. उन्होंने कहा के उनका पति उनकी ज़रा भी वॅल्यू नहीं करता, ठीक से बात भी नहीं करता, और कभी कभी मारता भी है उन्हें. मैं चुप था पता ही नहीं चल रहा था के क्या बोलू फिर मैंने कहा मैं कल आपके घर .आऊंगा तभी हम आराम से इस टॉपिक पर बाअट करेंगे पर फिलहाल के लिए चुप हो जाए. वो रोए ही जा रही थी चुप ही नहीं हो रही थी तो मैंने उन्हें थोड़े जोक्स सुनाए वो थोड़ी शांत हुई.

फिर मैंने अडल्ट जोक्स सुनाए तो वो बोली के ऐसे जोक्स मुझे पसन्द नहीं. मैंने कहा ठीक है और चुप हो गया. फिर वो मुस्कराई और बोली के आ66आ बाबा बोलो. सुनाओ मुझे. मैं खुश हो गया फिर हमने बहुत सारी अडल्ट बातें की.

दूसरे दिन मैं उनके घर पोहच्ा. मेरे मान में लड्डू फुट रहे थे. डोरबेल बजाई तो उन्होंने दरवाजा खोला. दोपहर का टाइम था और धूप बहुत थी तो मुझे पसीना आ रहा था और थोड़ा डर भी लग रहा था. उन्होंने मुझे जूस दिया. वो मेरे पास आई और मेरा पसीना पोने लगी. उनके दोनों बूब्स मेरी आंखों के सामने आ गये थे.

मैं अपनी नज़र ही नहीं हटा पा रहा था उनके बूब्स पर से. मेरा लंड खड़ा हो गया था. जीन्स में भी मेरा लंड साफ दिख रहा था. शायद उन्होंने देख लिया था तो वो थोड़ा और पास आई और उनके बूब्स मेरे मुंह से चिपक गये. मैं अपने आप को कंट्रोल नहीं कर पाया. मेरे हाथ से उनकी कमर को पकड़ा और वही सोफे पे उनको एक ज़टके से लिटा दिया मैंने.

[td_block_9 custom_title="मज़ेदार सेक्स कहानियाँ" header_color="#dd3333" tag_slug="indian-desi-sex-stories" sort="random_posts" limit="5"]

वो बोली के ये क्या कर रहे हो तो मैंने कहा के जो आप मुझसे चाहती है वो ही कर रहा हूँ. वो हंसी और मैं उनके बूब्स पर अपना सर रख दिया. और ब्लाउज के ऊपर से ही उनको धीरे धीरे मसलने लगा. वो मदहोश होने लगी थी. फिर मैंने अपने हाथ उनके ब्लाउज में डाल दिए बहुत ही नर्म थे उनके बूब्स. शायद उन्हें बहुत आ66आ लग रहा था.

फिर मैंने उनका ब्लाउज निकल दिया और फिर ब्रा भी निकाल दी. एक बूब को अपने मुंह में लिया और दूसरे बूब की चूची को पकड़ने लगा. शायद आधे घंटे तक ये जब करने के बाद वो बोली के चलो बेडरूम में चलते हैं तो हम बेडरूम में चले गये. वहां जाते ही वो अपने घुटनों के बाल बैठ गयी और मेरा पेंट उतार दिया और मेरे खड़े लंड को आंडरवेयर के ऊपर से ही चाटने लगी. फिर थोड़ी देर बाद मैंने अपनी टी-शर्ट और आंडरवेयर निकाल दी और पूरा नंगा हो गया.

फिर उनको मैंने उठाया और बेड पे लिटा दिया वो सिर्फ़ घाघरे में थी. मैं उनके ऊपर लेट गया और उन्हें किस करने लगा थोड़ी देर किस करने के बात मैंने उनका घाघरा निकाल दिया और उनकी चुत को चड्डी के ऊपर से ही चाटने लगा. चड्डी के ऊपर से ही मैं अपनी जीभ उनकी चुत में डाल रहा था वो एकडम आहें भर्ने लगी थी. फिर मैंने धीरे धीरे उनकी चड्डी भी निकाल दी.

अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी. उनकी चुत क्लीन श्वेद थी तो मैंने पु6आ के मेरे लिए शेव की है क्या. तो उन्होंने बताया के आज सुबह नहाते वक्त ही शेव कर ली थी. और थोड़ा शर्मा गयी. उनकी चुत एकडम गुलाबी थी मैंने एक ज़टके से अंदर उंगली डाल दी तो वो चिल्ला उठी आअहह. और बोला के ज़रा धीरे करो ये पी6ले 5 महीने से ऐसे ही पड़ी है ज़ोर से करोगे तो डरड होगा. पर मैं शुरू हो गया था तो रुका नहीं और उंगली अंदर बाहर करने लगा. वो आअहह आआहा आआहह ससस्स कर रही थी और सिसकियाँ लेने लगी थी. वो मेरे हाथों में ही झाड़ गयी.

अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैंने उन्हें किस की और लेट गया उनके ऊपर बूब्स दबाने लगा ज़ोर से और अपने लंड को उनकी चुत पे रगड़ने लगा. वो ससस्स सस्स्सस्स कर रही थी. फिर मैंने अपने लंड को सेट किया और एक ही ज़टके में अपना पूरा लंड डाल दिया उनकी चुत में. उन्हें इतना डरड हुआ के उन्होंने अपने नाखून मेरी पीठ में घुसा दिए. मुझे थोड़ा डरड हुआ पर मैं होश में नहीं जोश में था तो ध्यान नहीं दिया उसपर और आराम से अंदर बाहर करने लगा. और किस भी करता रहा.

वो थोड़ी शांत हुई तो मैंने अपनी बढ़ता थोड़ी बधाई और वो भी मुझे साथ देने लगी.

फिर मैं खड़ा हो गया और उनकी दोनों टाँगों को उठाकर मारे कंधे पर रख दिया और चुत में अपना लंड सेट किया. और बारे आराम से उन्हें चोदने लगा. उन्हें बहुत डरड हो रहा था इस पोज़िशन में तो मैंने उनकी दोनों टाँगों को फैला दिया और अपने दोनों हाथ उनकी कमर पे रख दिया और आराम से ज़टके मारने लगा. उन्हें इतना दर्द हो रहा था के वो अपने हाथों से बेडशीट को नोंच रही थी और आंखों से पानी कंट्रोल नहीं हो रहा था उनसे तो मैंने अपना लंड निकल दिया. और उन्हें शांत करने के लिए उनके ऊपर लेट गया और और उन्हें किस करने लगा.

फिर मेरा लंड मैंने उनके हाथ में दिया और वो बारे प्यार से सहलाने लगी. फिर मैं ज़दने वाला था तो मैंने कहा के मैं ज़दने वाला हूँ तो वो उठी और मेरी टाँगों के बीच बैठ गयी और थोड़ी तेजी से मेरे लंड को हिलने लगी और मेरे लंड को अपने मुंह में लेने लगी. मैं ज़दने वाला था तो मैंने उनके सर को अपने लंड पे दबाने लगा और फिर उनके मुंह में ही झड़ गया. वो मेरा सारा पानी पे गयी.

फिर वो मेरे ऊपर आई और हम करीब 15 मिनट तक ऐसे ही नंगे पड़े रहे. कोई बातचीत नहीं एकडम चुप. फिर उन्होंने मुझसे पु6आ के तुमने अपना लंड क्यों बाहर निकाल लिया था तो मैंने कहा के मैं तुझे डरड देकर खुद मजे नहीं लेना चाहता तो वो रो पड़ी और अपना सर मेरे सीने पे रख दिया.

मैंने पु6आ के क्या हुआ तो उन्होंने बताया के उनके पति ने कभी इस तरह से उनसे बात नहीं की और कभी इतनी इज्जत नहीं दी. लास्ट 5 महीने से वो बाहर ही किसी के पास जा रहे थे और उनके साथ कभी सेक्स नहीं करते थे. इसलिए आज उन्हें बहुत ज्यादा डरड हुआ. वो रोते रोते मुझसे माफी माँग रही थी और मेरे लंड को सहला रही थी और मैं उसके बालों में हाथ फेयर रहा था. मैंने कहा के कोई बात नहीं अब मैं हूँ ना और उनके सर को चूम लिया मैंने.

फिर उन्होंने नाखून लगाए थे वहां थोड़ी मरहम लगाई.

उन्होंने बताया के उनका पति 3 दिन बाद आने वाला है तो आज रात यही रुक जाओ तो मैंने हां कर दिया. फिर हम साथ नहाए वहां भी हमने सेक्स किया. और फिर रात को साथ में खाना खाया. और रात में मैंने उनकी गान्ड भी मारी. अब जब भी मौका मिलता है हम सेक्स करते है.

Content Protection by DMCA.com

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here