अंकल से अफेयर उनसे से चुदवाने का मज़ा

3
2575
Back

1. अंकल से चुदवाने का मजा – uncle se affair chudvane ka maja Part – 1

दोस्तों, मेरा नाम नेहा है मैं पंजाब की अमृतसर जिले की रहने वाली हूँ. मैं बि. टेक कर रही हूँ… मेरी उमर 22 साल है. मेरी फिगर 34-28-35 है. मेरा अपने घर के पास हे एक अंकल से अफेयर है, उसकी बीवी की मुझसे बहुत बनती है,अक्सर हमारा एक-दूसरे के घर आना-जाना लगा रहता है.

यह बात तब की है.. जब आंटी अपने बुआ के लड़के की शादी पर चली गयी और मेरी आंटी से कह गयी की नेहा को खाना बनाना के लिए भेज देना. शनिवार को कॉलेज से मेरी छुट्टी रहती है. मेरी आंटी और अंकल जी दोनों जब करते है. मैं सुबह हे 9 बजे के करीब अपने घर को ताला लगाकर उनके घर चली गयी. मुझे देख कर अंकल बहुत खुश हुए. वो आंटी को सुबह हे बस स्टैंड पर चोद आए थे और आते-आते खाने के लिए आलू-पूरी ले आए थे.

मुझ मैं और अंकल की उमर मैं 6-7 साल का हे अंतर है. मैं अंकल से पहले भी चुद चुकी हूँ.. लेकिन तब डर- चुप कर चुदाई की ही. आज हमारे पास पूरा मौका था. मुझे देखते हे अंकल ने मुझे बाँहों मैं ले लिया और मेरे गाल पर एक चुंबन कर दिया.

मैंने कहा- आज काम पर नहीं जाना?

अंकल ने कहा- आज छुट्टी ले ली है.

मैंने कहा- ठीक है… पर चलो पहले खाना कहा लेते है.

अंकल ने कहा- ठीक है.

अंकल ने अपने कपड़े उतरने शुरू किए.

मैंने कहा- क्यों उतार रहे हो?

तो अंकल ने कहा- आज नंगे होकर हे खाना खाएँगे.

उन्होंने मुझे भी कपड़े उतरने के लिए कहा. मैंने मना किया तो वो खुद हे मेरे कपड़े मेरे कपड़े उतरने लगे. उन्होंने पहले मेरा टॉप उतार दिया, फिर पाज़मी भी उतार दी. पर मैंने ब्रा नहीं उतरने दे और पेंटी मैंने खुद उतार दे.

अब हमने खाना खाना शुरू किया … लेकिन अंकल ने मुझे अपनी जाँघ पर बिठाया और फिर हमने खाना खाना शुरू किया. एक कॉयार वो मेरे मुंह मैं देते और एक अपने मुंह मैं खाते. फिर अंकल ने मेरे मुम्मो पर आलू डाल दिए और मुम्मो पर से हे सब्ज़ी खाने लगे. वो अपनी जीभ मेरे मुम्मो पर फेयर-फेयर कर कहा रहे थे.. नीचे से उनका लंड मेरी चुत पर टकरा रहा था. अभी खाना खत्म भी नहीं हुआ था की अंकल ने मुझे अपनी और खींचा और लंड को नीचे से चुत मैं घुसेड़ दिया.

उनका 7 इंच का मोटा लंड मेरी चुत के अंदर था. मेरी एक ‘आहह’ निकल गयी… अंकल ने मेरे मुम्मो को सहलाया और कुछ और कुछ हे पलों मैं उनका लौंडा मेरी चुत मैं सेट हो गया. फिर हमने बच्चा हुआ खाना ऐसे खाया और अंकल ने मुझे ऐसे उठाया और अंदर ले गये. लंड अभी भी मेरी चुत मैं हे फँसा था. ऐसे हे हम बिस्तर पर लेट गये और अंकल ने मुझे चोदना चालू कर दिया.

कुछ समय बाद उन्होंने लंड बाहर निकाला और मेरी ब्रा खोलने के बाद , फिर मेरे मुममे चूसने लगे. मुझे बहुत मजा आ रहा था. अंकल से चुदने का मुझे यह फायदा था की वो मुझे कुछ ना कुछ गिफ्ट देते थे. अब वो मेरी टांगे अपने हाथों मैं लेकर चोद रहे थे.

फिर उन्होंने मुझे घोड़ी स्टाइल मैं भी चोदा. लगभग 30 मिनट की चुदाई के बाद वो झाड़ गये, उन्होंने अपना सारा वीर्य मेरे मुम्मो पर चोद दिया. फिर हमने एक साथ नहाए, यहां भी अंकल ने फिर से मेरी चुदाई के. उधर मुझे बहुत मजा आ रहा था. कभी मैं उनका लंड चूस रही थी… कभी वो मेरे मुममे चूस रहे थे. अंकल ने साबुन से अच्छी तरह से मेरे मुममे भी साफ किए और नीचे चुत की भी सफाई की. मैंने बाहर आ कर जब समय देखा तो 11 बजे थे. इसके बाद नंगे हे हमने त.भी. देखा. फिर 12:30 बजे मैंने खाना बनाना शुरू किया… वो भी नंगे हे बनाया.

Back

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY