कामवाली की मस्त चुदाई

0
25659

कामवाली की मस्त चुदाई

मैं सानू सिंग एक बार फिर हाजिर हूँ अपनी नयी कहानी “कामवाली की मस्त चुदाई” के साथ. मेरी पिछली कहानी “सासू मां की चुदाई” को बहुत अच्छा रेस्पॉन्स मिला और इससे मुझे अपनी दूसरी कहानी लिखने के लिए मोटिवेशन मिला.

तो मेरी कहानी शुरू होती है कुच्छ ऐसे. तब मैं त्रिवांड्रूम में था ई मीन अभी भी हूँ. मैं एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूँ. मैं अपने 4 और दोस्तों के साथ एक 2 BHK फ्लैट लेकर रही रहा था. लाइफ बहुत अच्छी चल रही थी. फिर हमने झाड़ू पोछा वगैरह के लिए एक कामवाली को रखा. उसका नाम तो पता नहीं क्योंकि मैंने कभी पूछा नहीं क्योंकि उसे हिन्दी नहीं आती थी और मुझे मलयाली नहीं आती. देखने में एवरेज थी बहुत ज्यादा गोरी नहीं थी और नहीं काली थी लेकिन उसका फिगर बड़ा ही सेक्सी था. पतली सी थी बूब्स एवरेज प्रॉबब्ली 34 पर गांड बारे थे. जब भी वो चलती थी उसके गांड के उभर साफ दिखाई देते थे और लंड खड़ा हो जाता था.

तो वो कम करना स्टार्ट कर दी. सुबह 8 तो 8.30(कभी कभी इससे लेट भी आती थी) तक आ जाती और विदिन लेंस तन आन आवारा वो अपना कम खत्म कर के चली जाती. कभी कभी उसे आने में देर हो जाती तो हमें से कोई रुक जाता रूम पे ताकि वो कम खत्म कर ले फिर हम रूम लॉक करके निकले और रूम पे रुकने वाला मोस्ट्ली मैं होता था क्योंकि मेरा टाइम फ्लेक्सी था. जब भी वो देर से आती मैं ऑलमोस्ट तैयार होकर इंतजार करता था उसको कम खत्म करने का और उसके बूब्स और गांड घूरा करता था. जब वो झाड़ू लगती थी तो अपना दुपट्टा उतार के रख देती थी और झुकने के वजह से उसके क्लीवेज साफ दिखते थे. कभी कभी तो डीप नेक पहन के आती थी तो एकदम अंदर तक दिखता था जब उसके पीछे होता था उसकी गांड को घूरा करता था. कई बार उसने नोटिस किया की मैं उसके चुच्चे देख रहा हूँ लेकिन वो इग्नोर कर देती कोई रिएक्शन नहीं देती लाइक शी डोएस्न’त केर.

हां एक बात थी मेरे सारे रूम मेट्स में मेरे से उससे ज्यादा जमती थी बिकॉज़ मैं ही केवल सॉफ्ट स्पोकन पर्सन था लेकिन लॅंग्वेज कोम्पबिलिटी इश्यू के वजह से कुच्छ कुछ बात नहीं होती. ये सिलसिला ऐसे ही चलता रहा मैं उसके बूब्स और गांड घूरता रहता कभी कभी उसकी नज़रे मिल जाती घूरते हुए वो बस एक स्माइल पास कर के रही जाती ढकने की कोई कोशिश नहीं करती. इससे मेरी हिम्मत बढ़ने लगी.

एक दिन मैं ऑफिस नहीं गया क्योंकि मेरा मूंड़ नहीं था. सो ई वाज़ जस्ट स्लीपिंग. मेरे सारे रूम मेट्स ऑफिस जा चुके थे इट वाज़ 9:10 देन मैंने अपना लॅपटॉप स्टार्ट किया और पॉर्न मूवीस देखने लगा. मैं हेडफोन लगा रखा था लेकिन लॅपटॉप का स्क्रीन बिलकुल दूर के तरफ था मीन्स अगर कोई भी दूर पे आता तो देख सकता था. चुकी कामवाली अभी तक नहीं आई थी तो मुझे नहीं लगा वो आएगी. थोड़ी देर तक मैं पॉर्न देखता रहा और फिर अपना लंड शॉर्ट से बाहर निकल के हिलने लगा.

थोड़ी देर में जब मैं झड़ने वाला था तो उठ के बाथरूम में गया और पानी निकालने लगा तभी मुझे किचन में डिशस साफ करने की आवाज़ आई. मुझे डाउट हुआ की कही ये आ तो नहीं गयी और वो अगर आई होगी तो पक्का मुझे मूठ मरते देखा होगा क्योंकि रूम का दरवाजा खुला था और जहां वो अपना बैग और दुपट्टा रखती थी वहां से मैं साफ दिखाई देता. मैं जल्दी से पानी निकल के लंड साफ किया और किचन के तरफ गया तो देखा वो आ चुकी थी और बर्तन साफ कर रही थी. मैंने पूछा कब आई ई मीन ई आस्क्ड वेन दीदी यू कम उसने कहा जस्ट 5 मिनट और एक कातिल से स्माइल दी उसने मैं समझ गया इसने सारा प्रोग्राम देखा है. लेकिन कम्यूनिकेशन गेप होने की वजह से ज्यादा बात भी नहीं कर पाया. पर हां उसके बाद से वो मेरे से ज्यादा खुलने लगी जब भी देखती एक सेक्सी सी स्माइल देती और खुलकर अपने बूब्स और गांड दिखती थी.

कुच्छ दिन तक ऐसे ही चलता रहा मैं उसके चुचियों और गांड के दर्शन करता और उसको याद कर के मूठ मरता. फिर कुच्छ दीनों बाद मुझे सिटी चेंज करना था मेरी जॉब ट्रांसफर की वजह से. ई हद 8 डेज़ रिमेनिंग. फिर मैंने तो सोच लिया की अब तो जाने से पहले इसे चोद के ही जाऊंगा लास्ट 5 डेज़ आंटी तो फ्री मेरा ऑफिस नहीं था और मैं रूम पे अकेला था क्योंकि मेरे रूम मेट्स ऑफिस जाते थे. मैंने सोच लिया जो करना था इन 5 डेज़ में करना है.

दे 1(मंडे) –

सुबह सुबह मेरे सारे फ्रेंड्स रेडी हो रहे थे ऑफिस के लिए टाइम हो रहा था यही कोई सुबह के 9 बजने वाले थे थे वर अबौट तो लीव और शी अपेअरेड. वो कम में लग गयी और विदिन नेक्स्ट 10 मिनट मेरे रूममेट ऑफिस के लिए निकल गये मैं हॉल में टीवी देख रहा था और वो बर्तन साफ कर रही थी और मैं वही टीवी ऑन कर रखा था पर मेरा ध्यान तो उसकी गांड पे था. जब वो बर्तन साफ कर ली तो फिर झाड़ू उसने उठाया और कमरे की सफाई करने जाने लगी फिर उसने मुझे तैयार नो होते हुए देख के शायद पूछा “ऑफिस?” मैंने कहा “तीस वीक नो ऑफिस 5 डेज़ अट होम ओन्ली” वो एक प्यारी सी स्माइल देकर चली गयी झाड़ू लगाने, तब मैंने सोचा अब चुच्चे देखने का टाइम आ गया.

मैं वही हॉल में स्टूल लगा के बैठ गया. जब वो हॉल में झाड़ू लगाने लगी तो उसके बूब्स के दर्शन हुआ आज वो कुच्छ ज्यादा ही झुक के दिखा रही थी अपनी चुचियां. और बीच बीच में मेरे तरफ देखती मैं तो एकटक उसकी चुचियों को घूर रहा था वो बस स्माइल कर के फिर से झाड़ू लगाने में बिज़ी हो जाती थी. जब वो कम खत्म कर ली तो उसने अपना बैग और दुपट्टा उठाई और बोली “ई आम गोयिंग”. मैंने कहा “वाइ डॉन’त यू स्टे हियर फॉर सेम टाइम”. और शी रिप्लाइड “वॉट?”. दुबारा कहने की मेरी हिम्मत नहीं हुई मैंने कहा नतिंग और वो चली गयी और मेरा कलपद हो गया मैं फिर पॉर्न देखा और मूठ मर के रही गया.

दे 2(ट्यूसडे) – सेम आस मंडे नतिंग स्पेशल जस्ट कुच्छ चीज़े अलग थी आज वो जानबूझ के देर से आई अराउंड 10 आम क्योंकि उसे मालूम था मैं रूम पे ही हूँ और दूसरा मैंने जाने के टाइम में उसे रुकने के लिए नहीं बोला. क्योंकि मेरी फट रही थी.

दे 3(वेड़एसडे) – मेरे सारे दोस्त जा चुके थे अराउंड 9:30 हो रहा था और अबतक वो नहीं आई थी मैंने सोचा चलो पॉर्न देखते है फिर मैंने सोचा उस दिन की तरह दूर खुला चोद्ता हूँ और सेम पोज़िशन में बैठ के पॉर्न देख रहा था. हेडसेट आज भी लगा था लेकिन साउंड मूठ था की उसे लगे मुझे बाहर की आवाज़ सुनाई नहीं दे रही है लेकिन आक्च्युयली मुझे सुनाई दे रही थी. वो लगभग 10 बजे तक आई. मैं दरवाजा की खुलने की आवाज़ आई मैं प्रिटेंड करने लगा की ई आम लॉस्ट इन पॉर्न मूवी उसने आकर ठीक जगह पे दुपट्टा और अपना बैग रखा फिर मुझे उसकी कोई मूवमेंट सुनाई नहीं दी मीन्स वो वहां खड़ी होकर देख रही थी मुझे. मैं पॉर्न देख रहा था और अपने शॉर्ट के ऊपर से अपना लंड मसल रहा था.

फिर वो 2 मिनट के बाद किचन में चली गयी और मुझे बर्तन्न की आवाजें आने लगी. फिर 2 मिनट में बर्तन की आवाज़ बंद हो गयी मैं अलर्ट हो गया फिर से शी माइट कम और मैं अपना लंड शॉर्ट से बाहर निकल के उसे हिलने लगा. फिर मुझे दूर के पास थोड़ी अवट सुनाई दी जो की उसकी पायल की आवाज़ थी मैं समझ गया वो दरवाजे पे चुप के देख रही है मेरा लंड पूरा टाइट हो गया था और मैं पूरा आक्साइड हो चुका था मान तो किया की उसे अभी खिच के लाउ और अपना लंड उसके गांड में डाल दम, पर मैंने इंतजार करना सही समझा फिर थोड़ी देर बाद वो बाथरूम में चली गयी और बाथरूम का दरवाजा बंद होने की आवाज़ सुनाई दी मुझे. मैं जल्दी से उठा और लॅपटॉप ऑफ कर के बाहर हॉल में आ गया.उसने बाथरूम का दूर लॉक नहीं किया था जस्ट दरवाजा चुत किया था. फिर मुझे उसके वॉमिटिंग करने की आवाज़ आई मैंने सोचा इसे क्या हो गया.

फिर वो थोड़ी देर में बाहर आई मैंने पूछा “अरे यू ऑलराइट?” उसने जवाब दिया “इसे” और अगेन वो बाथरूम में भागी और इस बार उसने दरवाजा आधा खुला छोड रखा था उसे फिर से वॉमिटिंग फील होने लगा. मैंने उसकी हेल्प करने की सोची और मैं बाथरूम में गया और पूछा “अरे यू ऑलराइट, यू नींद सेम मेडिसिन?” उसने कहा “नो इट’से ओके” शी वाज़ फ़ीलिंग लाइक वॉमिटिंग लेकिन आक्च्युयली शी कोउल्ड़न’त वॉमिट. मैंने उसका बेक सहलाने शुरू किया तो उसे थोड़ा अच्छा फील हुआ.

फिर वो बाहर आई और बताया किचन में जो आइल फैला है उसके वजह से वॉमिटिंग होने लगा. आक्च्युयली लास्ट नाइट को चिकन 65 बना था जिस आइल में फ्राइ किया गया था वो वैसे ही पड़ा था किचन में. अगेन शी फेल्ट लाइक वॉमिटिंग मैंने फिर से उसका बेक सहलाने लगा और वो थोड़ा बेटर फील करने लगी मेरा राइट हेंड उसके शोल्डर पे था और अपने लेफ्ट हेंड से उसका बेक सहला रहा था. मेरे हाथ के प्रेशर पड़ने से वो थोड़ा मेरे और करीब आ गाई और थोड़ा मेरे से टच होकर खड़ी हो गयी. मेरा लंड भी उसके कमर पे लगने लगा और फिर मेरा लंड खड़ा होने लगा मैं उसके बेक को सहलाता रहा और वो थोड़ा थोड़ा कर के मेरी तरफ लीन होने लगी. मैंने धीरे से अपना राइट हेंड थोड़ा नीचे किया जो ऑलमोस्ट उसके बूब्स को टच करने लगा और अपना लेफ्ट हेंड उसके कमर और गांड पे सहलाने लगा.

फिर वो मेरे से पूरी तरह से चिपक गयी और मैंने दीवाल के सहारे लगा के उसे लीप किस करने लगा. वो भी खुल के मेरा साथ दे रही थी. फिर लीप किस खत्म होने के बाद मैं उसके चुचियों को मसलने लगा, फिर उसने इशारा किया की दूर ओपन है. मैंने जल्दी से जाकर दूर लॉक किया अंदर से और फिर उसे रूम के अंदर लेकर आया और फिर उसे बेड पे बैठा दिया वो फिर से मेरे से चिपक गयी. और मैं उसे फिर से किस करने लगा और उसकी चुचियों को मसलने लगा.

फिर मैंने उसका हाथ अपने लंड पे रखा और वो मेरा लंड मेरे शॉर्ट्स के ऊपर से ही सहलाने लगी. मैंने उसकी कुरती और ब्रा निकल दिया फिर उसके मिड्ल साइज के नुकीले चुचियां मेरे सामने आ गाई बस मैं टूट पड़ा और उसको लिटा के उसकी चुचियों को चूसने लगा वो भी मेरा सर पकड़ के अपने चुचियों पे दबाए जा रही थी. फिर मैंने उसके सलवार का नारा खोला और उसके सलवार को उसकी पैंटी के साथ थोड़ा नीचे किया और ओह में गुडनेस एकदम क्लीन सेव्ड पिंक चुत मेरे सामने दिखाई दिया मैंने तुरंत उसके चुत पे अपने होंठ रख दिए और उसके बॉडी में जैसे सिहरन पैदा हो गयी. फिर मैं उसके चुत में अपना तौंगुए और उंगली घूमने लगा और अपनी गांड उठा उठा के मजे लेने लगी. और थोड़ी देर के चुत चूसने पर वो झाड़ गयी. फिर मैंने उसकी सलवार पूरी उतार दी. और अपना बनियान और शॉर्ट उतार दिए अब हम दोनों एक दूसरे के सामने नंगे थे और मैं खड़ा था वो बेड पे बैठी थी मेरा लंड उसके सामने फुफ्कार रहा था मैंने उसका सर पकड़ के अफ़ने लंड की तरफ खींचा और वो मेरा लंड पकड़ के अपने मुंह में लेने लगी एकदम से मजा आ गया लंड चूसने में बहुत ही अच्छी थी वो.

तकरीबन 2 मिनट तक उसने मेरा लंड चुस्कर एकदम से हार्ड कर दिया और मेरे से कंट्रोल नहीं हो पा रहा था. मैंने उसे लेटने को कहा और वो लेट के अपना पैर फैला दी. फिर क्या था मैंने अपना लंड उसके चिकनी चुत पे रखा और एक ज़ोर का झटका दिया पर निशाना गलत रहा और लंड फिसल गया उसके झांघो पे. उसने तुरंत मेरा लंड पकड़ा और अपने चुत के छेद पे रखा और मैंने दूसरा ट्राइ किया और इसबार एक ही बार में मेरा पूरा लंड उसकी चुत में चला गया. आस शी वाज़ आ विडो लेडी और उसकी एक बच्ची थी तो उसका चुत ऑलरेडी खुला था.

फिर क्या था मैंने ज़ोर ज़ोर के झटके लगाने चालू कर दिए. वो भी अपनी गांड उठा उठा के पूरा सपोर्ट कर रही थी बीच बीच में मैं उसके नेक पे किस करता कभी उसकी चुचियां चूसता तो कभी कभी उसके निपल्स पे हल्के से काट लेता वो पूरा एंजाय कर रही थी. फिर मैं उठ कर साइड में लेट गया और उसको राइड करने का इशारा किया वो मेरे खड़े लंड को अपने चुत पे टीका के बैठी और मेरा लंड एक बार फिर से उसके चुत में पूरा चला गया फिर वो ऊपर नीचे करने लगी. मैं उसके चुचियों से खेलता और साथ साथ उसकी गांड पे हाथ रख के उसको झटके लगाने में सपोर्ट भी कर रहा था. इसके बाद मैंने डॉगी स्टाइल भी ट्राइ करने का सोचा फिर मैंने उसे इशारा किया डॉगी स्टाइल में होने को वो तुरंत डॉगी स्टाइल में झुक गयी फिर मैं अपना लंड उसकी चुत में डाल के उसे पेलना चालू कर दिया. हम दोनों पूरा मजा ले रहे थे इस चुदाई सेशन का. और इस बीच में वो दो बार झाड़ चुकी थी. चुकी मैं दो दिन से उसको चोदने का सोच के मूठ मर रहा था तो मैं इतनी जल्दी नहीं झाड़ पाया.

फिर मैंने उसको एक बार और लिटा दिया और उसके ऊपर आकर और पूरे ताक़त से शॉट लगाने लगा अब उसे इससे थोड़ा पेन होने लगा पर साथ में मजा भी आने लगा. मैं पूरे ज़ोर ज़ोर से झटके लगा रहा था जिससे वो पूरी तरह से हिल जा रही थी. फिर वो मुझे ज़ोर से पकड़ ली और अपनी गांड उठा उठा के झटके खाने लगी मैं समझ गया वो झड़ने वाली है तबतक मैं भी झड़ने के करीब था और मैंने झटकों की रफ्तार और बढ़ा दी और कुच्छ ही झटकों में हम दोनों एकसाथ झाड़ गये. तकरीबन 15 20 मिनट की चुदाई चली थी हमारी फिर मैं कुच्छ देर तक ऐसे ही उसके चुत में लंड डाले पड़ा रहा उसके ऊपर फिर हम दोनों उठे और बाथरूम में जाकर अपना अपना साफ किया फिर उसने कहा “ई आम लेट”. ई साइड ओके गो. और फिर वो अपने कपड़े पहन के चली गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here