मॅनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 14

0
3701

मैनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 14
सोनी – अब और मत तड़पा, अब और मुझसे नहीं रहा जा रहा हे, प्लीज़ मेरी चुत क्यों प्यास बुजदो.

रोहित बेड पर से खड़ा हुआ और अपने कपड़े उतरने लगा और अपने सारे कपड़े उतार के वापिस बेड पर सोनी के पास लेट गया जहां सोनी पहले से ही नंगी पड़ी हुई थी.

रोहित ने सोनी के ऊपर चढ़ गया और सोनी के होठों को अपने होठों से चूसने लगा. सोनी पूरी तरह से गरम हो चुकी थी और वो भी बुरी तरह से रोहित के होठों को चूस रही थी.

सोनी के होठों कुछ देर चूसने केबद रोहित ने अपना मुंह सोनी के दोनों बूब्स के पास ले आया और सोनी के एक निप्पल को अपने मुंह में लेकर ज़ोर जोत से चूसने लगा. रोहित ने निप्पल चूसते हुए अपना एक हाथ सोनी के चुत पर रख दिया और एक उंगली सोनी की चुत में डाल कर ऊपर नीचे हिलने लगा.

सोनी अपनी आंखें बाँध कर के उहह, अहह जैसी आवाजें निकल रही थी और अपने दोनों हाथों से रोहित के बालों को सहला रही थी.

रोहित ने सोनी की दोनों निप्पल बड़ी बड़ी से चूसी और सोनी के बूब्स को भी खूब जोरों से मसल दिया था. अब रोहित अपना लंड सोनी के बूब्स के पास ले आया और सोनी ने अपने दोनों हाथों से अपने दोनों बूब्स साथ में ले आई और रोहित उन दोनों बूब्स के बीच में अपना लंड फँसा कर लंड आगे पीछे करने लगा.

थोड़ी देर यूही बूब्स के साथ खेल कर रोहित सोनी के मुंह के पास साइड में बैठ गया और अपना लंड सोनी के मुंह में दे दिया.

सोनी रोहित का लंड चूसने लगी और रोहित अपनी आंखें बाँध कर के अपनी लंड की चूसा का मजा लेने लगा और अपना पर सोनी की चुत की और बढ़ाया और अपने पर के अंगूठे से सोनी की चुत को मसलने लगा.
रोहित सोनी के पास ही पूएा नंगा होकर बिस्तर पर लेट गया था और बाद में थोड़ा ऊपर की और जाकर रोहित अपना लंड सोनी के मुंह के पास ले गया. सोनी ने भी रोहित के लंड को प्यार से पकड़ कर सहलाने लगी और लंड के ऊपर हल्का चूम के सोनी ने लंड को अपने मुंह में ले लिया.

सोनी रोहित का लंड अपने मुंह में लेकर मजे से चूस रही थी और रोहित अपनी आंखें बाँध कर के अपने लंड की च्साई का मजा ले रहा था. साथ ही साथ रोहित ने अपना पर सोनी की चुत पर रखा और अपने पर से ही सोनी की चुत को हल्के हल्के से मसलने लगा और इस हरकत से सोनी को भी मजा आने लगा और वो ज्यादा मजे से और उत्तेजित होकर रोहित का लंड चूसने लगी.

करीब 5 मिनट तक सोनी ने रोहित का लंड चूसा और फिर उसने रोहित से कहा अब और मत तड़पा मुझे, अब तो मेरी चुत में तूफान उठ चुका हे, जिसे सिर्फ़ तुम्हारा लंड ही अंदर जाकर शांत कर सकता हे.

ठीक हे जानेमन, जैसा आप कहे. आज तुम बस देखती जाओ की तुम्हारी चुत का तूफान कैसे शांत होता हे. रोहित ने सोनी की चुत पर हाथ रखा और उसे सहलाते हुए कहा की तुम्हारी चुत बहुत ही टाइट हे बिलकुल कुँवारी चुत के जैसे और इसे देखकर बिलकुल नहीं लगता हे की ये जाए के लंड से चुद चुकी हे.

जाए तो 2 – 3 महीनों में एक दो बार ही चोदता हे मुझे और वो भी 5 – 7 मिनट में झड़ जाता हे और जाए के बाद तुम सिर्फ़ दूसरे मर्द हो जिसके सामने में नंगी हुई हूँ. में तो आज सेम को ही तुम्हारा बड़ा लंड और तुम जिस तरह से प्रिया की चुदाई कर रहे थे उसे देखकर ही में बहुत गरम हो गयी थी और तुमसे चुदवाना चाहती थी और तुमने भी मुझे प्रिया के सामने पूरा नंगा कर दिया था और मुझे चोदने ही वाले थे पर तब में प्रिया को देख कर डर गयी तजी और्र्र्र्र्ररर

सोनी अपनी बात पूरी करती उसके पहले ही रोहित ने उसके दोनों पैरों को खिच कर फैला दिया जिस से सोनी की चुत थोड़ी सी खुल गयी और रोहित अपना लंड सोनी की चुत के ऊपर रख दिया.

रोहित की इस अचानक हरकत से सोनी के मुंह से औचह की आवाज़ निकल गयी और सोनी रोहित को कुछ कहे उसके पहले ही रोहित ने सोनी दोनों टाँगे पकड़ कर फैला दी थी और अपना लंड सोनी की चुत पर रख दिया था.

रोहित ने अपना लंड सोनी की चुत पर फिरने लगा. सोनी अपने ही बालों को पकड़ हे, उहह जैसी आवाजें निकल रही थी….
रोहित ने अपना लंड सोनी की चुत पर फिरने लगा. सोनी अपने ही बालों को पकड़ हे, उहह जैसी आवाजें निकल रही थी….

सोनी आंखें बाँध कर के पूरी तरह रोहित के लंड अपनी चुत पर महसूस कर के मदहोश हो रही थी और तभी अचानक ही रोहित ने अपना लंड एक झटके से सोनी की चुत में घुसेड़ दिया और रोहित का आधा लंड एक झटके से ही सोनी की चुत में घुस गया और

अचानक हुई इस हरकत से सोनी के मुंह से चीख निकल गयी अहह…….नहियीईईईईईई, बाहर निकालो रोहित इसे, मुझे बहुत दर्द हो रहा हे नूऊ…..और इतना कहते हुए सोनी बूरा तरह से बेड पर तड़पने लगी और अपने हाथ पर चलाने लगी रोहित से छूटने के लिए. तभी रोहित ने अपनी पकड़ सोनी पर और मजबूत की और अपने दोनों हाथों से सोनी के तड़पते और हिलते हूर पर ज़ोर से मकबूती के साथ पकड़ लिए और अपने लंड को एक ज़ोर का झटका देते हुए अपना पूरा का पूरा लंड एक ही झटके में सोनी की चुत में उतार दिया.

रोहित का पूरा लंड जैसे ही सोनी की चुत के अंदर गया सोनी की चीखें निकलनी चालू हो गयी नहियीईईईईईईई, नूऊऊओ, रोहित प्लीज़ इसे जल्दी से बाहर निकालो एर इतना कहते कहरे वो अपना शरीर बेड से उठती और तड़पते हुए अपनी चुत से रोहित का लंड बाहर निकालने की कोशिश करती लेकिन वो कन्याब नहीं हो पा रही थी और वो जल बिन मछली की तरह दर्द के मारे तड़प रही थी.

रोहित ने सोनी की तड़पते हुए देख मुस्कराने लगा. रोहित ने अपना पूरा लंड सोनी की चुत में उतार दिया था और अब वो कुछ हरकत नहीं कर रहा था और सोनी को तड़पत्व हुए देख मजे ले रहा था.

फिर रोहित ने सोनी के दोनों बूब्स की निप्पल पकड़ी और धीरे धीरे उसे मसलने लगा. सोनी का दर्द और चीखें भी अब धीरे धीरे कम होते जा रही थी. जैसे ही सोनी की चीखें और तड़पना थोड़ा कम हुआ तो रोहित ने अपने लंड को बाहर निकलकर फिर से एक जोरदार धक्का मारकर वापिस सोनी की चुत में डाल दिया और इस बार भी सोनी के मुंह से हे की चीख निकल गयी लेकिन इस बार सोनी को इतना दर्द नहीं हुआ जितना सोनी को पहली बार हुआ था.

अब रोहित थोड़ी थोड़ी देर रुक कर अपना लंड सोनी की चुत में अंदर बाहर करने लगा और अब सोनी की चीखें बहुत ही कम हो गयी थी लेकिन उसे अब भी थोड़ा थोड़ा दर्द हो रहा था और वो अपने दोनों हाथों से अपने रकिये को काश के पकड़ रखा था और जाबजाब रोहित अपना लंड उसकी चुत में घुसेड़ता तब तब वो तकिये को काश कर पकड़ लेती.

रोहित ने अब अपने लंड को अंदर बाहर करने की बढ़ता थोड़ी सी बढ़ा दी और जब रोहित को लगा की सोनी का दर्द धीरे धीरे और कम हो रहा हे तो वो अपनी बढ़ता धीरे धीरे बढ़ता गया.

अब सोनी का दर्द बहुत ही कम हो गया था और अब वो रोहित के लंड को अपनी चुत महसूस कर के उत्तेजित हो रही थी और ये देख कर रोहित अब अपनी पूरी ताक़त से अपने लंड को सोनी की चुत में अंदर बाहर करके उसकी चुदाई करने लगा.

रोहित अब पूरी ताक़त के साथ सोनी की चुत चोद रहा था और रोहित की बढ़ता बढ़ने के कारण सोनी को थोड़ा दर्द होना फिर से चालू हो गया लेकिन कुछ ही देर बाद सोनी की चुत पूरी खुल चिकी थी और अब सोनी को मजा आना चालू हो गया था.

अब सोनी रोहित को कह ज़ोर से रोहित थोड़ा और ज़ोर से और रोहित भी सोनी की इस बात को सुन कर पूरा जोश में आ गया था और वो भी पूरी ताक़त के साथ सोनी की चुत मरने लग गया था.

सोनी के मुंह से अब अहह, ओह, कोमोनमम्मन्न, और ज़ोर सीईई जैसी आवाजें निकल रही थी और पूरी तरह से सेक्स के नशे में डूब चुकी थी और रोहित भी पूरा का पूरा सेक्स में डूबा हुआ था और सोनी की मस्त चुदाई कर रहा था.

करीब 15 मिनट तक सोनी की सेक्स भारी आवाजें पूरे रूम में गूँजती रही और उसके बाद पहले सोनी और उसके कुछ देर बाद रोहित भी झड़ गया.

रोहित झड़ने के बाद सोनी के ऊपर ही लेट गया और सोनी के होठों को चूसने लगाआा
रोहित झड़ ने के बाद सोनी के ऊपर ही लेट गया और उसके होंठ चूसने लगा. थोड़ी देर तक सोनी के होठों का रस पीने के बाद रोहित सोनी के बदन से नीचे उतार कर सोनी के पास बेड पर उसकी बगल में लेट गया.

रोहित और सोनी दोनों बेड पर लेते हुए एक दूसरे को देख रहे थे. सोनी ने दोनों हाथों से अपनी चुत पकड़ी हुई थी और हल्का हल्का सा कराह रही थी ओह, ओह जैसी धीमी धीमी आवाजें उसके मुंह से निकल रही थी.

जिस तरह से रोहित ने उसकी जबरदस्त चुदाई की थी उसकी वजह से जो उसकी चुत में जो दर्द अभी हो रहा था वो उसके चेहरे और उसके हावभाव में साफ दिखे दे रहा था.

रोहित बेड पर से खड़ा होता हे और अपने पेंट की जब से एक सिगरते निकल कर जलता हे और वापिस बेड पर सोनी के घुटनों के पास आकर बैठ जाता हे.

मैनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 14

मॅनेजर साहिब – Manager ki real indian sex story (Completed)

<< मॅनेजर साहिब – Ek Thari Company manager ki kahani – 13मॅनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 15 >>

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here