मॅनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 17

0
2386

मैनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 17
रोहित – गऊन्न भी मतलब ब्रा और पैंटी के अलावा सिर्फ़ गऊन्न पहना हे. अगर में वहां होता तो गऊन्न को खिच कर तुम्हारे शरीर से अलग कर देता.

प्रिया – अच्छा चलो मैंने इमगीन कर लिया के तुम यहां मेरे रूम में ही हो और मैंने गऊन्न को भी अपने शरीर से अलग कर दिया. बोलो अब आगे क्या करोगे,

में सिर्फ़ ब्रा और पैंटी में हूँ बेड पर्र्र्ररर प्रिया – चलो जैसा तुम कहो, मैंने अपनी नाइटी उतार दी हे और अब में सिर्फ़ ब्रा और पैंटी में ही हूँ बेड पर.

रोहित – रुको अभी में आ जाता हूँ तुम्हारे पास और तुम्हारी ब्रा और पैंटी को तो खिच दूँगा तुम्हते शरीर से और म्हरी ब्रा और निकालने के बाद……

प्रिया – निकालने के बाद, क्या करोगे

रोहित – तुम्हें नंगा करके, तुम्हारे पर फेलके जो तुम्हारे शरीर के एक एक अंग को बड़ी बड़ी से मसल दूँगा. तुम ठहरो में अभी 5 मिनट में आता हूँ

प्रिया – नहीं नहीं तुम घर पर मत आंाआस

रोहित – क्यों क्या हुआ

प्रिया – कुछ नहीं बस तुम घर पर मत आना. यहां जाए के काफी सारे वफादार हे और तुम जाए का स्वभाव तो जानते ही हो. हम ऑफिस में मिलते हे.

रोहित – मैंने तुम्हें फोन इसीलिए ही किया था की में आज ऑफिस नहीं आऊंगा, में और विजय कंपनी के एक क्लाइंट से मिलने जा रहे हे.

प्रिया – ओके

रोहित – में सेम को फोन करता हूँ तुम्हें, बायें सेक्सी लव यू.

प्रिया से फोन पर बात करके रोहित सीधा अपने रूम पेरर गया. राज उसका रूम्मत टीवी देख रहा था और जैसे ही रोहित आया उसने पूछ लिया यार कहा था रात भर.

यार पूछ मत रात को फँस गया था एक जगह रोहित ने कहा.

चल चोद यार में और रिया आज सिटी से बाहर घूमने जा रहे हे तुम और नेहा भी चलो इसी बहाने थोड़ा फ्रेश हो जाएंगे.

हां यार नेहा भी आज कल नाराज़ हे मुझसे, बाहर जाएँगे तो उसकी नाराज़गी भी थोड़ी कम हो जाएगी. में नेहा को हमेशा खुश देखना चाहता हूँ और इस दुनिया में मेरे लिए नेहा से इंपॉर्टेंट और कोई नहीं हे.

तो आज ठीक 4 बजे हम निकलेंगे बस तू नेहा को फोन कर देना राज ने कहा.

रोहित – ठीक हे में नेहा को फोन कर दूँगा वैसे तुम्हारी और रिया की बात कहा तक पहुँची.

राज – हाइवे पे चल रही और शायद मंजिल भी जल्द ही मिल जाएगी. मैंने रिया को शादी के लिए प्तोपोस कर दिया हे और वो मान भी गयी हे शादी के लिए.

रोहित – थ्ट्स ग्रेट. रिया को बोलना आज शाम को नेहा से बात करने के लिए शायद तुम दोनों का सुन के वो भी हां करदे शादी के लिए.

फिर रोहित फ्रेश होने चला गया और नाश्ता करके सीधा उसके घर के पास वाले कोफ़ी हाउस चला गया जहां उसे विजय से मिलना था.

रोहित जैसे ही वहां पहुंचा तो विजय वहां पहले से ही रोहित का इंतजार कर रहा था.

विजय – अरे बॉस अपने इतनी सुबह सुबह फोन किया जरूर कुछ खास बात होगी

रोहित – हां यार खास बात हे और इस वक्त में सिर्फ़ तुम पे भरोसा कर सकता हूँ और किसी पर नहीं.

विजय – आप्सिर्फ़ बटस्यए मुझे आपने काफी बार मेरी मदद की हे और आज में जो कुछ भी हूँ वो सिर्फ़ आपकी वजह से ही हूँ.

रोहित -मुझे पूरा भरोसा हे तुम पे और इसीलिए मैंने तुम्हें यहां बुलाया हे.

विजय – आप बताए बॉस क्या करना हर

रोहित मेरा जाए के साथ बहुत बड़ा पंगा हो गया हे और तुम या संजलो की में चक्रव्यूह में फँस गया हूँ और तुम तो जानते ही हो की जाए कितना पवरफुल आदमी हे.

विजय -आप इस जाए के चक्कर में कैसे फँस गये

रोहित – जाए की करोड़ों रूपो की डील होने जा रही हे लंडन की एक मल्टी नेशनल कंपनी के साथ. ये डील होते ही जाए की कंपनी भारत की सबसे बड़ी कंपनी बन जाएगी लेकिन ये डील एक वजह से रुकी हुई हे

विजय – और वो वजह क्या हे

रोहित – वजह ये हे की लंडन की कंपनी के चेर्मन मिस्टर. स्मिथ ने प्रिया के साथ लंडन में एक पार्टी के दौरान प्रिया के शरीर के साथ बदतामिसी की थी और वही उसी पार्टी में प्रिया ने सबके सामने स्मिथ को करारा तमाचा मर दिया था.

अब स्मिथ को प्रिया बहुत ह्ज पसंद आ गयी हे और उसे प्रिया चाहिए. स्मिथ ने जाए के सामने डील साइन करने के लिए शर्त रखी हे के प्रिया 1 रात स्मिथ के साथ सोए और वो भी अपनी मर्जी से और स्मिथ जैसा कहे प्रिया को वैसा ही करना होगा रात भर.

अब जाए ने प्रिया को स्मिथ के साथ अपनी मर्जी से सोने के लिए राजी करने का कम मुझे सोपा हे.

विजय – लेकिन आपको ही क्यों बोसद

रोहित – क्यों की कुछ दिन पहले मैंने प्रिया को चोदा था और पिछले कही दीनों से लगातार उसे चोदता आ रहा हूँ.

जाए को ये बात पता थी के में प्रिया को लगातार कुछ दीनों ए चोद रहा हूँ और वो अगर चाहता तो जब में पहली बार पतिया की चुदाई करने जा रहा था तभी वो रोक सकता था लेकिन उसने मुझे रोका नहीं और अपनी बीवी को चुदने दिया मुझसे.

लेकिन कल रात अच्छा एक वो मेरे सामने आ गया और अपना सारा प्लान मुझे बता दिया की उसे प्रिया में कोई रूचि नहीं हे और वो चाहता हे की प्रिया स्मिथ के साथ अपनी मर्जी से एक रात बिताए और में प्रिया को किशिभि तरह इसके लिए तैयार करूं.

जाए ने मुझे साफ साफ बता दिया के में अभी तक जिंदा इसीलिए हूँ की उसे मेरी जरूरत हे प्रिया को स्मिथ के साथ सोने के लिए राजी करने के लिए वरना वो कबका मुझे मर चुका होता.

और फिर मेरे पास जाए की बात मान ने के अलावा और कोई चारा नहीं था और मैंने जाए को प्रिया को मानने के लिए हां केहदी.

विजय – मान गये बॉस, प्रिया मैडम अगर मुझे एक बार भी चोदने दे तो में हंसते हंसते मरने को तैयार हूँ.

रोहित – मारना तो तय हे अब. में तो कल रात ही मरने वाला था लेकिन जाए ने मुझे छोड के बहुत बड़ी गलती करदी.

विजय – में कुछ समझा नहीं बॉस

रोहित – अब बात बिलकुल साफ हे या तो जाए मुझे मरेगा आज नहीं तो कल कम होने के बाद और यदि में बचना चाहता हूँ तो मुझे जाए को मारना होगा और वो भी अगले 2 – 3 दीनों में.

विजय – जाए का मुर्दूर

रोहित – और इसी कम में मुझे तुम्हारी मदद चाहिए

विजय – ठीक हे बॉस में आपके साथ हूँ और हम दोनों मिलकर जाए को खल्लास कर देंगे, वैसे भी पुरानी खुन्दस हे मेरी उसके साथ, सब के सामने साले ने .एरी बेइज़्ज़ती की थी.

लेकिन बोस्स्स हम उस्र मरेंगे क़ायदे?

विजय – ठीक हे बॉस में आपके साथ हूँ और हम दोनों मिलकर जाए को खल्लास कर देंगे, वैसे भी पुरानी खुन्दस हे मेरी उसके साथ, सब के सामने साले ने मेरी बेइज़्ज़ती की थी.

लेकिन बोस्स्स हम उसे मरेंगे कैसे?

रोहित – वो सब तुम मुझे पर चोद दो, मेरे दिमाग में हे एक प्लान उसे मरने का.

विजय – जाए के साथ हमेशा उसके 4 बॉडीगार्ड रहते हे

रोहित – मैंने उसका भी सोच लिया हे और जब जाए मरेगा तक उसके आस पास और कोई नहीं होगा

विजय – ये सब तो ठीक हे लेकिन जाए को मरने से हमारा कोई फायदा भी होगा या नहीं

रोहित – फायदा तो होगा तुम बस देखते जाओ. पहले तो मुझे मेरी जान बचानी हे जिसके लिए जाए का मारना जरूरी हे वरना वो कम होने के बाद मुझे नहीं छोड़ेगा.

विजय – बॉस अगर आप बोले तो मेरे ध्यान में 2-3 लोग हे जो ये कम कर सकते हे अगर आप बोलो तो में उनसे बात करूं

रोहित – नहीं ये बात किसी को भी पता नहीं चलनी चाहिए हम दोनों के अलावा क्यों की जाए के कॉंटॅक्ट सभी गुंडों के साथ हे और हम किसी के ऊपर भरोसा नहीं कर सकते. जाए को तो में ही अपने हाथों से मारूँगा.

विजय – ओके बॉस. अब अपने प्रिया मैडम की जवानी चख.हे ली हे तो मेरा भी चक्कर चलवा डीजये तो में भी थोड़ा प्रसाद लेलू. जब से प्रिया मैडम को देखा हे तब से काफी बार सपनों उसे चोद चुका हूँ पर जाए के कारण कभी उसको ठीक से देखने की भी हिम्मत नहीं हुई

रोहित – ठीक हे कल रात पार्टी के बाद प्रिया तेरे साथ होटल कमरे में होगी और वो भी अपनी मर्जी से. जी भर के लूट लेना उसकी जवानी को.

विजय – कल पार्टी, कैदी पार्टी और प्रिया अपनी मरजू से मेरे साथ आएगी, मुझे तो ये पोसडीबले नहीं लगता.

रोहित – आएगी तुम फिक्र मत करो, मुझे पे भरोसा नहीं हे क्या और रही बात पार्टी की तो उसका इंतजाम में अभी कर देता हूँ.

रोहित जाए को फोन लगता हे और कंपनी को आर्डर मिलने की में कल रात को पार्टी देने के लिए कहता हे. रोहित जाए को इस पार्टी के अरेंज्मेंट देखने की जिम्मेदारी प्रिया को देने को कहता हे जाए मान जाता हे और कहता की सब हो जाएगा.

रोहित ने विजय से कहा चलो तुम्हारा कम हो गया कल रात प्रिया तुम्हारी बांहों में होगी और अपनी मर्जी से तुमसे चुदवायेगी.

विजय – बॉस मुझे तो अब भी यकीन नहीं हो रहा

रोहित – तुम बस देखते जाओ
रोहित – विजय तुम भरोसा रखो मुझे पर प्रिया खुद चल कर तुम्हारे पास आएगी और तुमसे चुदवायेगी.

विजय – प्रिया बस आ जाए मेरी बांहों में, उसके बदन की सारी गर्मी पी जाऊंगा. प्रिया की सिर्फ़ देखते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता हे अगर वो सामने से मेरे पास आई तो साला आउट ऑफ कंट्रोल हो जाएगा और पता नहीं प्रिया का क्या हाल करेगा.

रोहित – बस तो फिर कल रात की तैयारी करो और हां जाए को रास्ते से कैसे हटाएँगे वो भी में सोच कर तुम्हें बताता हूँ क्यों उसका भी कम तमाम एक दो दिन में करना पड़ेगा.

विजय – ठीक हे बॉस आप जैसे कहेंगे उसे टपका देंगे.

रोहित – इस बात पर तुझे एक बोनौस देता हूँ

विजय – वो क्या?

रोहित – सिगरते जलते हुए, तुम्हें प्रिया की वो दोस्त याद हे जो प्रिया के ऑफिस जाय्न करने के लिए आई थी, जो जाए आहर प्रिया के पास ही बैठी थी.

विजय – बिलकुल याद हे बॉस, वो वकील, उसका नाम सोनी हे

रोहित – हां वही सोनी, तुम्हें चाहिए, छोड़ोगे उसे

विजय – क्या आप भी, सीकरी से पूछ रहे हो सीकर करोंगे या नहीं. वो भी जबरदस्त सेक्सी कूदी हे, पतली कमर चिकना बदन. प्रिया से किशिभि मामले वो कम नहीं हे.

रोहित – तो जाओ प्रिया के साथ करने से पहले उसके साथ नेट प्रेक्टिस कर लो आज.

विजय – क्या बॉस वो भी अपनी मर्जी से आएगी

रोहित – हां वो भी आए गी अपनी मर्जी से और उसके साथ तो मुझे अपना पुराना हिसाब भी ठीक करना हे. कल रात ही उसके साथ था में और उसकी चुत और गांड दोनों फाड़ दी हे मैंने.

विजय – वो बॉस मान गये

रोहित – बस में तुम्हें फोन करूं तब तू उसके ऑफिस चले जाना और आज उसके साथ धीरे करना.

चलो अब हम मिलते हे बाद में, में फोन करता हूँ तुम्हें रोहित ने कहा.

प्रिया अपनी केबिन में बैठी कुछ कम कर रही थी तभी उसके मोबाइल पर जाए का फोन आया

जाए – ही जानूं, कैसी हो और ऑफिस का कम कैसा चल रहा हे

प्रिया – में ठीक हूँ और ऑफिस कम भी धीरे धीरे सिख रही हूँ. तुम कैसे हो?

जाए – अच्छा हूँ. मैंने तुम्हें फोन इसलिए किया हे की तुम्हें एक पार्टी अनाउन्स करनी हे अपने सभी एंप्लायी के लिए जो की कल रात को होगी. हमने 2 बारे ए क्षपोर्ट आर्डर फाइनलाइस किए हे इसी में.

प्रिया – तुम कब आ रहे हो और तुम्हारे आने के बाद रखते हे ना पार्टी

जाए – नहीं पार्टी कल ही होगीकयू की मुझे आने में और कुछ दिन लग सकते हे और में भी तो देखु तुम मॅनेज कर लेती हो या नहीं.

प्रिया – अगर ऐसे बात हे तो मुझे पर विश्वास रखो कल संदर पार्टी होगी.

जाए – तुम रोहित की हेल्प ले लेना, लास्ट टाइम भी उसने बढ़िया पार्टी का आयोजन किया था.

मैनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 17

मॅनेजर साहिब – Manager ki real indian sex story (Completed)

<< मॅनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 16मॅनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 18 >>

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here