मॅनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 8

0
3920

मैनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 8
में प्रिया को यहां इतनी सुबह देख कर थोड़ा हैरान हो गया था. प्रिया ने पीले कलर का डिज़ाइनर पंजाबी चूड़ीदार पहना हुआ था और वो एकदम कमाल की लग रही थी.

प्रिया को देखकर में सीधा ऑफिस के स्टोर रूम की और गया और प्रिया को भी इशारा किया तो वो भी थोड़ा रुक कर मेरे पीछे स्टोर रूम की और आई. स्टोर रूम बिल्कुलुल सेफ था क्योंकि वहां से ऑफिस में अससनी से बिना किसी की नज़रो में आए जा सकते थे. प्रिया सीधा मेरे पास आई और बोली हेलो रोहित तो मैंने भी रिप्लाइ देते हुए कहा हेलो. मैंने प्रिया से पूछा तुम इतनी जल्दी सुबह सुबह ऑफिस में? मैंने तो सोचा की तुम जाए के साथ लेट आओगी.

प्रिया ने जवाब देते हुए कहा की यह ऑफिस हे और तुम मुझे आप कहकर बुलाओगे यहां पर और दूसरी बात यहां ऑफिस में किशिभि तरह की बदतामिसी में सहन नहीं करूँगी तो तुम अपनी लिमिट में रहना समझे ना. और रही बात सुबह सुबह अनेकी तो ये ऑफिस में मेरा पहला दिन हे और में ठीक टाइम से आना चाहती थी.

मैंने प्रिया को जवाब देते हुए कहा ठीक हे मैडम में अपनी लिमिट में ही रहूंगा तो क्या हुआ थोड़ा मुश्किल होगा मेरे लिए आपको देख कर खुद को कंट्रोल करना. मुझे तो पिछले 2-3 दिन से एक खास नशे की आदत हो गयी हे और अब तो वो चीज़ मेरे आस पास ही होगी लेकिन में नासा नहीं कर पौगा. प्रिया थोड़ा मुस्कराई क्यों की वो समाज गयी थी के में उसकी चुत के पानी की बात कर रहा हूँ.

प्रिया ने थोड़ा आगे पीछे देखा और मेरे पास आकर उसने अपने दोनों हाथ मेरे गले में डाल दिया और अपने बूब्स भी मेरी छाती में दबाते हुए बोली के फिक्र मत करो तुम्हें नासा में करवाऊंगी लेकिन ऑफिस में कुछ छेद चढ़ मत करना.

मैंने भी उसकी चुत पकड़ ली और उसे अपने बिलकुल पास खिच के कहा की मेरी जान तुम ऑफिस में बिलकुल बेफ़िक्र रहो में ऑफिस में कुछ भी नहीं करूँगा. और फिर मैंने उसकी चुत को थोड़ा ज़ोर लगले मसला तो उसकी आंखें बाँध हो गयी और औचह की आवाज़ उसके मुंह से निकल गयी. फिर उसने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी चुत से हटा कर वो वहां से चली गयी और सीधा जाए की ऑफिस में घुस गयी.

थोड़ी देर में एक एक करके सब लोग ऑफिस में आ गये और करीब 11 बजे जाए भी ऑफिस में आया और उसने टुरट ही रिया अपनी सेक्रटोरी को बुलके सब सीनियर पर्सन्स को कोनफेरंसे हॉल में 12 बजे आने का मेसेज देने को कहा.

हमारी ऑफिस में एक भी सीसी टीवी कमरा नहीं था क्योंकि जाए को सीसी टीवी कमरा बिलकुल पसंद नहीं था.में अपने ऑफिस में थोड़ा कम कर रहा था तभी पिओन ने आकर मुझे कहा की कोई मैडम आपसे मिलना चाहती हे तो मैंने पूछा की नाम क्या हे उनका और वो कहा से आई हे तो पिओन ने बताया की वो ये कुछ भी बता नहीं रही हे और बस आप का नाम ले रही हे और आपसे मिलना चाहती हे. मैंने पिओन से पूछा की दिखने में कैसी हे वो? तो उसने ने बताया की सरजी एकदम कड़क माल हे बिलकुल सन्नी लीयोन जैसा. मैंने कहा ठीक हे उसे अंदर भेजो.

थोड़ी देर बाद दरवाजे पे नॉक हुआ और एक बहुत ही सेक्सी लड़की मेरी ऑफिस में दाखी हुई. उसने डार्क ब्लू जीन्स और वाइट शर्ट पहनी हुई थी. में तो उसको एक ही नज़र से देखता रहा और सोचने लगा की यह जरूर सोनी होनी चाहिए जो प्रिया की फ़्रेंड थी और जैसा प्रिया ने कहा था की सोनी प्रिया से भी ज्यादा सेक्सी हे तो ये बिलकुल वैसी ही थी और प्रिया से काफी ज्यादा सुन्दर थी.

वो लड़की ऑफिस में अंदर आई और मुझसे बोली मेरा नाम सोनलप्रीत कॉयार हे और में प्रिया की दोस्त हूँ और मुझे लोग सोनी के नाम से पहचानते हे. वैसे में पैसे से हिगकौर्त में वकील का कम करती हूँ.

में अपनी सीट से खड़ा हो कर सोनी के पास गया और उसे कहा की चलिए वहां सोफे पर बैठ के आराम से बात करते हे और प्रिया ने आपके बारे में बताया हे मुझे.

और में अपनी बात आगे बढ़ौ उसके पहले ही सोनी ने अपना घुटना मेरे लंड पे दे मारा जिसकी वजह से में आगे की तरफ थोड़ा बंद हो गया हो और फिर उसने मेरा लंड पकड़ लिया और अपना मुंह मेरे मुंह के पास लाकर बोली की चिल्लाना मत वरना बदनामी तुम्हारी ही होगी और उसने मेरे लंड ज़ोर से दबा दिया और मुझे बहुत दर्द हो रहा था.

मैंने थोड़ा छूटने की कोशिश की तो सोनी ने कहा की वो करते की मास्टर हे और में छूटने की नाकाम कोशिश ना करूं और उसने मेरा लंड थोड़ा और ज़ोर से दबा दिया और अब मुझे बहुत दर्द हो रहा था.

फिर सोनी ने कहा की तुमने प्रिया की जिंदगी बर्बाद करदी हे और तुम्हें क्या मिला ये सब करके. साले तूने मेरी दोस्त का रेप किया और वो बहुत खुश थी जाए के साथ और तुम दोनों की ये हकीकत आज नहीं तो कल जाए के सामने आह जाएगी और तब प्रिया का क्या होगा ये सोचा हे तुमने. तुम ने उसका फ्यूचर खराब कर दिया हे.

चलो आज के बाद अगर तुम प्रिया के आस पस्ड़ भी नज़र आए तो ये तुम्हारे लिए अच्छा नहीं होगा. दूर रहना प्रिया से. फिर सोनी ने मेरा लंड चोदा और में सीधा ज़मीन पर गिर गया और में पूरी तरह से बंद था और अपने दोनों हाथों से अपने लंड को पकड़े हुए था.

तभी सोनी मेरे सर के पास आकर बैठी और बोली समाज गये ना तुम्हें प्रिया से दूर रहना हे. और फिर सोनी ने मेरे दोनों हाथ मेरे लंड से हटाए और लंड पर हाथ फिरते हुए कहा उम्मीद हे तुम समाज गये होगे.
और फिर सोनी ने मेरे दोनों हाथ मेरे लंड से हटाए और लंड पर हाथ फिरते हुए कहा उम्मीद हे तुम समाज गये होगे.

सोनी अब मेरी ऑफिस में से चली गयी और में किसी तरह हिम्मत करके खड़ा हुआ और अपनी चेयर पर जाकर बैठ गया. सोनी ने इतनी ज़ोर से लंड दबाया था की अब भी मुझे दर्द हो रहा था. में तो सोचता ही रही गया और पिछली 10 मिनट में यहां क्या से क्या हो गया मुझे अब भी यकीन नहीं हो रहता. लेकिन प्रिया थी एक दम सेक्स बॉम्ब और जैसा प्रिया ने कहा था वो सही में उस से भी ज्यादा सेक्सी थी. मैंने तो उसे देख के ही उसे चोदने का मान बना लिया था पर साली ने मौका ही नहीं दिया.

मैंने फिर अपने आप से कहा की ये तुम ने ठीक नहीं किया सोनी और मुझे आज जितना दर्द हो रहा उस से कही ज्यादा दर्द सहन करने के लिए तैयार हो जाओ. अगर मैंने तुम्हें रांड़ बनकर सबसे ना चुदाया दिया तो में भी अपने बाप की औलाद नहीं. तुम्हारी ओए तुम्हारी दोस्त की अब क्या हालत करता हूँ बस तुम देखती जाओ.

अब 12 बज चुके थे और हम सब कोनफेरंसे हॉल में आ चुके थे और जाए का इंतजार कर रहे थे. थोड़ी देर में जाए और प्रिया आए और उसके साथ सोनी भी थी और वो जैसे हंस हंस के बातें कर रही थी. सोनी मेरे सामने देख के मुस्कुरयो फिर वो तीनों बैठ गये. फिर जाए ने खड़ा होकर प्रिया को इंट्रोड्यूस करवाया और बोला के हेलो एवेरी वन, ये मेरी पत्नी प्रिया हे और आज से वो हमारा ऑफिस जाय्न कर रही हे. प्रिया एक्सपोर्ट हेड की पोस्ट पर कम करेगी और सीधा मुझे ही रिपोर्ट करेगी. राज और रोहित उसके अंदर कम करेगे और में उम्मीद करता हूँ वो उन्हें पूरा सपोर्ट देंगे. सो ई वेलकम प्रिया ऑन बिहाफ ऑफ ऑल ऑफ उस और विश हेयर ऑल थे बेस्ट.

और सब प्रिया को मिलकर वेलकम करने लगे और में भी इंतजार कर रहा था प्रिया से मिलने के लिए.
सब लोग बड़ी बड़ी से प्रिया की मिलकर वेलकम कर रहे थे और में भी सोच रहा था की प्रिया से मिलकर वेल्कोंर कर दम ताकि जाए को कुछ अजीब ना लगे.

प्रिया और जाए कुछ बातें कर रहे थे और सोनी भी वही उनके पास बैठी हुई थी और सोनी बीच बीच में मेरी और देख कर मुस्करा भी रही थी. में मान ही मान कह रहा था की हंस लो तुम्हें जितना हसना हे बाद में रोने के लिए आस्यू भी कम पड़ जाएंगे.

फिर में उठ कर प्रिया और जाए के पास गया और कहा हेलो सर और वेलकम मैडम तो ऑफिस और विश यू ऑल थे सुसेस्स.

तभी जाए ने प्रिया से कहा की ये रोहित हे और ये तुम्हारे अंदर का करेगा. वैसे ये बहुत ही हार्डवर्किंग लड़का हे जो अपना कम बखूबी जनता हे.

प्रिया ने मुझे कहा की रोहित तुम लंच के बाद मेरी ऑफिस में मिलो और कंपनी की एक्सपोर्ट में प्रेज़ेंट्ली क्या पोज़िशन हे और क्या क्या चीज़ पेंडिंग हे वो सब रिपोर्ट भी लेकर आना.

मैंने कहा ठीक हे मैडम में आपसे लंच के बाद आपकी ऑफिस में सब रिपोर्ट और स्टेट्मेंट के साथ मिलता हूँ और वन्स अगेन वेलकम तो थे ऑफिस.

मैंने फिर लंच किया और उस दौरान मुझे राज का फोन भी आया था की वो आज ऑफिस नहीं आएगा क्योंकि उसकी तबीयत तिल नहीं हे और लंच के दौरान जाए भी अपने घर से निकल चुका था.

फिर लंच के बाद में सब फाइल्स लेकर प्रिया की ऑफिस में गया और प्रिया ने मुझे बैठने के लिए कहा. मैंने बैठ ते ही उसे कहा की आज तुम इस कपड़ों में कमाल की लग रही हो.

प्रिया ने जवाब में थॅंक्स कहा और बोली के चलो वहां सोफे पे बैठ कर बात करते हे और कम हम कल से देखेंगे. फिर उसने कहा की में तुम्हें अपनी दोस्त सोनी से मिलवाना छाती थी पर जाए के साथ होने के करान मिलवा नहीं सकी.

फिर हम दोनों सोफे पे जाकर बैठ गये और मैंने बात आगे बध्टे हुए कहा की डोंट वरी में सोनी से आज मिल चुका हूँ और तुमने बताया नहीं के वो करते की मास्टर हे.

प्रिया ने कहा क्या हुआ तुमने कुछ इसे वैसे हरकत तो नहीं की ना उसके साथ? वो एकदम सीधी लड़की हे और लड़कों से दूर ही रहती हे. मुझे ऐसा क्यों लगता हे की तुमने उसके साथ जरोइर कुछ किया हे और उसने तुम पर करते के दाव आज़माए हे.

मैंने प्रिया से कहा की मैंने कुछ ऐसा वैसा उसके साथ नहीं किया हे. वो मुझे धमकी देकर गयी हे की में तुमसे दूर रहूं वरना मेरे लिए अच्छा नहीं होगा. उसने मेरे लंड पे इसे लत मारी हे साला मेरा लंड अब भिदर्द कर रहा हे.

अच्छा हुआ वो उस दिन माल पे नहीं आई वरना तो वो मुझे वही चाट से नीचे धक्का मर देती.

प्रिया ने आगे आकर मेरे लंड को थोड़ा सहलाया और वापिस पीछे जाकर और थोड़ा मुस्कुराकर बोली चलो आज शाम को में उसे बुला लेती हूँ और हम तीनों कही मिल ते हेप्रिया ने आगे आकर मेरे लंड को थोड़ा सहलाया और वापिस
पीछे जाकर और थोड़ा मुस्कुराकर बोली चलो आज शाम को
में उसे बुला लेती हूँ और हम तीनों कही मिल ते हे.

फिर में भी खड़ा हुआ और उसके एक बूब्स को दबाया और कहा ठीक हे सेम को मिलते हे. कहा मिलना हे वो तुम मुझे बता देना, में वहां आ जाऊंगा.

सेम के करीब 4 बजे प्रिया मेरी ऑफिस में आई और कहा की में जा रही हूँ और तुम्हें में फोन करूँगी तो मैंने कहा ठीक हे.
सेम के 5 बजे मुझे प्रिया का फोन आया और उसने कहा की उसकी बात सोनी से हो गयी हे और मुझे प्रिया ने सोनी के फ्लैट का पता दिया जो की हमारी ऑफिस से आधे घंटे की दूरी पे था और वहां ठीक 6 बजे आने को कहा और मैंने प्रिया से कहा ठीक हर में 6 बजे पहुंच जाऊंगा.

में ऑफिस से थोड़ी देर बाद निकला और प्रिया के बताए हुए पाते पर पहुंच गया और मैंने डोरबेल बजाई तो सोनी ने दरवाजा खोला और में देखता रही गया क्यों की उसने एक छोटा सा बरमूडा टाइप चड्डी और लो कट टी-शर्ट पहना हुआ था. सोनी ने कहा ज्यादा घूर्ो मत और मुझे अंदर आने को कहा और मैंने अंदर आया और प्रिया के बारे में पूछा तो सोनी ने बताया की वो अभी तक नहीं आई हे.

में – जिसने मिलने के लिए बुलाया वही लेट हे
सोनी – वो आ जाएगी तुम आराम से बैठो
में- आराम से नहीं बैठा जा रहा
से – क्यों? क्या हुआ?
में – मैंने अपने लंड पे हाथ रखा और कहा दर्द हो रहा हे
से – संभाल कर रहना वरना दर्द हमेशा के लिए दूर हो जाएगा
में- दर्द से तो मुझे अब प्यार जो गया हे और अब दर्द से डर नहीं लगत्. फिर मैंने सोनी से पूछा तुम अकेली रहती हो क्या यहां?

से- क्यों तुम्हें मेरी फिक्र हो रही हे क्या?

उसी बीच डोरबेल बाजी और सोनी ने दरवाजा खोला तो प्रिया थी. उसी बीच डोरबेल बाजी और सोनी ने दरवाजा खोला तो प्रिया
थी. प्रिया और सोनी दरवाजा बाँध करके रूम में आए और प्रिया आ कर मेरे पास में सोफे पर बैठ गयी और सोनी मेरे सामने वाली सोफे की सीट पर बैठ गयी. प्रिया ने अभी ब्लैक जीन्स और येल्लो स्किन फिट टॉप पहना हुआ था जिसमें उसके बूब्स साफ ताने हुए दिख रहे थे और मान तो कर राझा था की ुआको पकड़ कर ज़ोर आए दबडू.

मैनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 8

मॅनेजर साहिब – Manager ki real indian sex story (Completed)

<< मॅनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 7मॅनेजर साहिब – Ek Tharki Company manager ki kahani – 9 >>

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here